कांग्रेस की हार के बाद अब महात्मा गांधी की राह पर चलना चाहते हैं राहुल गांधी!

लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस में उठापटक का दौर चलने के बाद राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश को पार्टी ने खारिज किया, तो राहुल और प्रियंका गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की आलोचना की.

News18Hindi
Updated: May 26, 2019, 6:46 PM IST
कांग्रेस की हार के बाद अब महात्मा गांधी की राह पर चलना चाहते हैं राहुल गांधी!
राहुल गांधी. फाइल फोटो.
News18Hindi
Updated: May 26, 2019, 6:46 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 में बेहद खराब नतीजों से निराश राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की पेशकश कर चुके हैं. ताज़ा खबर के मुताबिक राहुल ने कांग्रेस की वर्किंग कमेटी की बैठक के दौरान कहा कि वह पार्टी की विचारधारा के लिए आगे काम करना चाहते हैं, लेकिन किसी पद के लिए नहीं.

पढ़ें: प्रियंका भी चाहती हैं राहुल गांधी दे दें कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा



समाचार एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक, राहुल गांधी ने कमेटी से कहा, 'महात्मा गांधी ने जाति या धर्म से उठकर विचारधारा और लोगों के हितों के लिए लड़ाई लड़ी थी, लेकिन कभी कोई पद नहीं लिया था'.

राहुल गांधी ने इस बैठक में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव में अपने बेटों को टिकट देने के लिए इन नेताओं ने उन पर दबाव बनाया. हालांकि, गांधी ने किसी का नाम नहीं लिया, लेकिन स्पष्ट रूप से समझा जा रहा है कि उनके निशाने पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम थे.

गौरतलब है कि राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत जोधपुर संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़े और हार गए, जबकि कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ ने छिंदवाड़ा सीट से और चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम ने शिवगंगा सीट से जीत दर्ज की. सूत्रों ने कहा कि राहुल ने इस बात पर भी नाखुशी जताई कि पार्टी नेताओं ने राफेल डील के मुद्दे को ताकत के साथ उठाने में सुस्ती दिखाई.

बैठक में प्रियंका गांधी ने भी पार्टी नेताओं की आलोचना करते हुए कहा कि भाजपा सरकार की नीतियों को कठघरे में खड़ा कर रहे राहुल का साथ ठीक तरह से पार्टी नेताओं ने नहीं दिया. सीडब्ल्यूसी मीटिंग के दौरान, चुनाव में हुई हार की ज़िम्मेदारी लेते हुए राहुल ने इस्तीफे की पेशकश की, लेकिन पार्टी के सदस्यों ने एक सुर में इस पेशकश को नकार दिया. पार्टी ने मंशा ज़ाहिर की है कि राहुल पद पर रहते हुए पार्टी में आमूलचूल बदलाव लाकर नये सिरे से संगठन तैयार करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

यह भी पढ़ें:
राहुल गांधी बोले- कमलनाथ, गहलोत ने पार्टी से ऊपर रखा परिवार, बेटों को टिकट दिलाने पर लगाया जोर
लोकसभा चुनाव में हार के बाद अशोक चव्हाण ने दिया महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...