Assembly Banner 2021

अनुराग-तापसी के घर छापेमारी पर राहुल गांधी का सरकार पर निशाना, बोले- केंद्र की हालत 'खिसियानी बिल्ली' जैसी

राहुल गांधी  (File pic)

राहुल गांधी (File pic)

अभिनेत्री तापसी पन्नू, अनुराग कश्यप अन्य के खिलाफ कर चोरी के मामले में आयकर विभाग ने बुधवार को छापमेारी की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 4, 2021, 11:54 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने अभिनेत्री तापसी पन्नू (Tapsee Pannu) और फिल्म निर्माता-निर्देशक अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) के घर और दफ्तर पर आयकर विभाग की छापेमारी पर टिप्पणी की है. पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने तीन मुहावरों के 'अर्थ' समझाते हुए केंद्र सरकार पर हमला बोला. राहुल ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार किसान समर्थकों पर छापेमारी की कार्रवाई कर रही है. हालांकि राहुल ने अपने ट्वीट में अनुराग कश्यप या तापसी का नाम नहीं लिया है.

वायनाड सांसद ने ट्वीट किया - 'कुछ मुहावरे: उंगलियों पर नचाना- केंद्र सरकार IT Dept-ED-CBI के साथ ये करती है. भीगी बिल्ली बनना- केंद्र सरकार के सामने मित्र मीडिया. खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे- जैसे केंद्र सरकार किसान-समर्थकों पर रेड कराती है.'





छापेमारी मुंबई और पुणे में 30 स्थानों पर
बता दें आयकर विभाग ने बॉलीवुड अभिनेत्री तापसी पन्नू और फिल्मकार अनुराग कश्यप व उनके साझेदारों के घरों और कार्यालयों पर बुधवार को छापेमारी की. अधिकारियों ने बताया कि यह छापेमारी फैंटम फिल्म्स के खिलाफ कर चोरी की जांच का एक हिस्सा है. उन्होंने बताया कि यह छापेमारी मुंबई और पुणे में 30 स्थानों पर की गई. अधिकारियों ने बताया कि विभिन्न परिसरों से दस्तावेज एवं कंप्यूटर आदि उपकरण जब्त किया गए हैं.

पन्नू और कश्यप, दोनों को कई मुद्दों पर अपने खुलकर अपने विचार रखने के लिए जाना जाता है. दोनों पुणे में शूटिंग कर रहे हैं और समझा जाता है कि छापेमारी के दौरान होने वाली प्रारंभिक पूछताछ के तहत आयकर अधिकारियों ने उनसे पूछताछ की.

जिन अन्य के खिलाफ छापेमारी की गई उनमें फैंटम फिल्म्स प्रोडक्शन हाउस के कुछ कर्मचारी शामिल हैं, जिसे 2018 में भंग कर दिया गया था. इसमें इसके तत्कालीन प्रवर्तक कश्यप, निर्देशक-निर्माता विक्रमादित्य मोटवाने, निर्माता विकास बहल और निर्माता-वितरक मधु मंटेना शामिल हैं. आयकर विभाग के सूत्रों ने बताया कि इन संस्थानों के बीच हुए कुछ लेन-देन विभाग की नजर में थे और कर चोरी के आरोपों की जांच को आगे बढ़ाने के लिए सबूत एकत्रित करने के लिए यह कार्रवाई की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज