अपना शहर चुनें

States

मेरी बात याद रखना, तीनों कृषि कानून वापस लेने पर मजबूर होगी सरकार: राहुल गांधी

मदुरई में आयोजित जल्लीकट्टू कार्यक्रम में राहुल गांधी के साथ कई बड़े नेता मौजूद थे. (फोटो: ANI/Twitter)
मदुरई में आयोजित जल्लीकट्टू कार्यक्रम में राहुल गांधी के साथ कई बड़े नेता मौजूद थे. (फोटो: ANI/Twitter)

Farmer Protest: दिल्ली की सरहदों पर करीब 6 हफ्तों से किसान प्रदर्शन कर रहे हैं. किसान लगातार केंद्र सरकार से नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) को वापस लिए जाने की मांग कर रहे हैं. राहुल ने दावा किया है कि सरकार को यह कानून वापस लेने होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2021, 11:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. तमिलनाडु पहुंचे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने केंद्र सरकार को जमकर घेरा. पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने सरकार पर किसानों के खिलाफ साजिश रचने के आरोप लगाए हैं. राहुल गुरुवार को यहां पोंगल मनाने और जल्लीकट्टू (Jallikattu) कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे. उन्होंने सुबह ही अपने इस दौरे की जानकारी ट्वीट के जरिए दी थी. मदुरई में आयोजित जल्लीकट्टू कार्यक्रम में राहुल के साथ कई बड़े नेता मौजूद थे. खास बात है कि तमिलनाडु में भी इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं.

राहुल गांधी ने आरोप लगाए हैं कि सरकार कुछ लोगों की मदद करने के लिए किसानों के खिलाफ साजिश कर रही है. उन्होंने कहा, 'सरकार उन्हें केवल नकार नहीं रही है, बल्कि 2-3 दोस्तों को फायदा पहुंचाने के लिए उन्हें बर्बाद करने की साजिश कर रही है. वे किसानों की चीजों को अपने 2-3 दोस्तों को देना चाहते हैं. यही है, जो हो रहा है.' उन्होंने कहा, 'जो सामने हो रहा है उसे समझने के लिए नजरअंदाज शब्द भी काफी कमजोर है.'

यह भी पढ़ें: Farmers Protest: SC द्वारा गठित कमेटी से भूपिंदर सिंह मान ने नाम लिया वापस




'जब किसान कमजोर हुए भारत कमजोर हुआ'
मदुरई में राहुल गांधी ने कहा, 'इस देश के किसान इस देश की रीढ़ की हड्डी हैं. अगर कोई यह सोचता है कि आप किसानों को दबा लोगे और देश समृद्ध बना रहेगा तो उन्हें इतिहास देखने की जरूरत है. जब-जब भारतीय किसान कमजोर हुआ है, भारत कमजोर हुआ है.' राहुल ने इस दौरान कई बार भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर उद्योगपतियों की मदद करने के आरोप लगाए हैं. हालांकि, उन्होंने किसी का भी नाम नहीं लिया.

उन्होंने कहा, 'आप किसानों को दबा रहे हैं. आप मुट्ठीभर व्यापारियों की मदद कर रहे हैं.' पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने इस दौरान केंद्र सरकार को कोरोना वायरस के मुद्दे पर भी घेरा. उन्होंने कहा, 'जब कोरोना आया, तो आप आम आदमी की मदद नहीं कर रहे थे. आप किसके प्रधानमंत्री हैं? क्या आप भारत की जनता के प्रधानमंत्री हैं या 2-3 चुने हुए कारोबारियों के.'





राजधानी दिल्ली की सरहदों पर करीब 6 हफ्तों से किसान प्रदर्शन कर रहे हैं. किसान केंद्र सरकार से नए कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की मांग कर रहे हैं. राहुल ने दावा किया है कि सरकार को यह कानून वापस लेने होंगे. उन्होंने कहा, 'मेरे शब्दों को याद रखना, सरकार इन कानूनों को वापस लेने पर मजबूर हो जाएगी. याद रखना जो मैंने कहा है.' सरकार और किसानों के बीच 15 जनवरी यानि शुक्रवार को 9वें दौर की बैठक होने जा रही है.

राहुल ने सरकार पर चीन मामले पर भी सवालिया निशान लगाए हैं. उन्होंने कहा, 'हमारे इलाके में चीन क्या कर रहा है? क्यों चीन के लोग हमारे इलाके में बैठे हैं? क्यों प्रधानमंत्री के पास इस मुद्दे पर बोलने के लिए कुछ नहीं है? क्यों प्रधानमंत्री इस तथ्य को लेकर शांत बैठे हैं कि चीनी टुकड़ियां भारतीय इलाके के अंदर मौजूद हैं.' मालूम हो कि भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज