Home /News /nation /

किराया तो बढ़ाया नहीं, इन तरीकों से पैसा जुटाएंगे सुरेश प्रभु

किराया तो बढ़ाया नहीं, इन तरीकों से पैसा जुटाएंगे सुरेश प्रभु

वर्तमान में किराये से इतर स्रोतों के जरिए 5 प्रतिशत से भी कम राजस्‍व जुटता है और इसे अगले 5 वर्ष में बढ़ाकर 10 प्रतिशत की विश्‍व औसत तक लाया जाएगा।

    नई दिल्ली। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने आज संसद में वर्ष 2016-17 का रेल बजट प्रस्‍तुत कर दिया। बजट में रेल किराये में किसी तरह की वृद्धि नहीं की गई है। रेलमंत्री का कहना है कि भारतीय रेल किराये से इतर स्रोतों से पैसा जुटाएगी। उन्‍होंने कहा कि वर्तमान में किराये से इतर स्रोतों के जरिए 5 प्रतिशत से भी कम राजस्‍व जुटता है और इसे अगले 5 वर्ष में बढ़ाकर 10 प्रतिशत की विश्‍व औसत तक लाया जाएगा। रेल मंत्री ने कहा कि इस लक्ष्‍य को प्राप्‍त करने के लिए निम्‍नलिखित कदम उठाए जाएंगे।

    1. स्‍टेशन पुनर्विकास: रेलवे की खाली पड़ी जमीन और स्‍टेशन की इमारतों के ऊपर की जगह का व्यावसायिक इस्तेमाल किया जाएगा ताकि इससे पैसा जुटाया जा सके। इसके लिए स्‍टेशनों के पुनर्विकास का एक बड़ा कार्यक्रम शुरू किया गया है।

    2. पटरियों के आस-पास की भूमि का इस्तेमाल: रेलवे द्वारा बागवानी तथा वृक्षारोपण को बढ़ावा देने के लिए रेल पटरियों के आसपास की जमीन को पट्टे पर दिया जाएगा। इससे वंचित वर्गों, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्‍य पिछड़ा वर्ग आदि के लिए रोजगार बढ़ेंगे, खाद्य सुरक्षा में सुधार होगा। रेलवे भूमि पर अतिक्रमणों की भी रोकथाम होगी। इस ट्रैक का इस्‍तेमाल करके सौर ऊर्जा उत्पन्न करने की संभावना की भी जांच की जाएगी।

    3. आईआरसीटीसी की वेबसाइट: आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर रोजाना लाखों लोक आते हैं। रेलवे इस साइट का इस्तेमाल ई-कॉमर्स गतिविधियों के लिए करेगा। साथ ही यात्रियों के टिकटिंग पैटर्न, उसकी प्राथमिकता व उससे जुड़ी अन्य जानकारियों का डाटा तैयार कर इसका इस्तेमाल पैसे जुटाने के लिए करेगा।

    4. विज्ञापन: भारतीय रेलवे ने अपनी विशाल भौतिक और प्राकृतिक अवसंरचना का विज्ञापन के माध्‍यम से वाणिज्‍यिक उपयोग करेगी। स्‍टेशनों, गाड़ियों और बड़े स्‍टेशनों व पटरियों के आस-पास की भूमि का विज्ञापन के लिए इस्‍तेमाल करने पर विशेष ध्‍यान दिया जाएगा।

    5. पार्सल व्‍यवसाय को ओवरहॉल करना: रेलवे किराये से इतर राजस्‍व के स्रोतों में वृद्धि करने के लिए अपनी वर्तमान पार्सल नीतियों को उदार बनाएगा। वह अपनी सेवाओं की पेशकश के दायरे, खासतौर पर ई-कामर्स जैसे उभरते क्षेत्र में सेवाओं के दायरे की पेशकश को बढ़ाएगा।

    6. विनिर्माण कार्यकलापों से राजस्‍व: रेलवे घरेलू तथा अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में अर्थपूर्ण भागीदार बनने के लिए उत्‍पादकता बढ़ाने और बेहतर विनिर्माण पद्धतियां अपनाने पर ध्‍यान केंद्रित करेगा। इससे 2020 तक लगभग 4 हजार करोड़ रुपये तक वार्षिक राजस्‍व जुटाने का लक्ष्‍य है।

    Tags: Suresh prabhu

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर