रेल यात्रियों को सफर के दौरान अब फिर मिल सकेगा पिज़्ज़ा, बिरयानी जैसा मनपसंद भोजन

आईआरसीटीसी के अधिकारियों के अनुसार अभी केवल फूड प्लाजा से पका हुआ खाना बेचने की परमिशन दी गई है.
आईआरसीटीसी के अधिकारियों के अनुसार अभी केवल फूड प्लाजा से पका हुआ खाना बेचने की परमिशन दी गई है.

लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए आईआरसीटीसी (IRCTC) ने ट्रेनों में कैटरिंग सर्विस को बंद करने के साथ ही देशभर में स्टेशनों, प्लेटफार्मों के बाहर और अंदर बनी फूड स्टाल (Food stall) पर पका हुआ भोजन बेचने पर रोक लगा दी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 4, 2020, 11:10 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. लॉकडाउन के बाद देश भर में लगभग 300 से ज्यादा ट्रेन चल रही हैं. इनमें सफर करने वाले यात्रियों को एक बार फिर मनपसंद भोजन मिल सकेगा. आईआरसीटीसी के प्रवक्ता सिद्धार्थ सिंह ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि, पूरे देश में कोरोना संक्रमण देखते हुए लॉकडाउन लगाया गया था, जिसमें ट्रेनें सेवाएं भी प्रभावित हुई, लेकिन लॉकडाउन खत्म होने के बाद से ही रेल सेवा एक बार फिर से धीरे-धीरे बहाल होनी शुरू हो गई हैं. ऐसे में ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्रिओं के लिए आईआरसीटीसी एक बार फिर से अपने किचन में फ्रेश और हेल्दी खाना सर्व करने की तैयारी कर रहा है.

सिंह ने बताया कि ट्रेनों में सफर करने वाले पैसेंजरों को फिर से पिज्जा, बिरयानी, मन्चुरियन, चाउमिन, पास्ता जैसे मनपसंद भोजन मिलने का रास्ता साफ हो गया है. लॉकडाउन के बाद एक बार फिर आईआरसीटीसी ने अपने सभी फूड प्लाजा को पका हुआ भोजन बेचने की इजाजद दे दी है. ऐसे में रेल में सफर करने वाले यात्री पूरे देश में सभी बड़े स्टेशनों पर मौजूद फूड प्लाजा से मनपसंद का खाना खरीद कर खा सकते हैं. वहीं आईआरसीटीसी के इस आदेश से फूड प्लाजा और रेल यात्रियों को भी सुविधा मिलेगी, अब फूड प्लाजा से यात्री थाली, राइस-राजमा, राइस-दाल, कढ़ी-राइस, राइस-मन्चूरियन, पराठा जैसे भोजन का लुत्फ उठा सकेंगे.

यह भी पढ़ें: बिरयानी खरीदने के लिए सड़क पर लगी डेढ़ किलोमीटर लंबी लाइन, लोगों ने पूछा- फ्री बंट रही है क्‍या?



लॉकडाउन के बाद से फूड प्लाजा में मिल रही थी चिप्स, बर्गर और पानी बोतल
लॉकडाउन के दौरान कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए आईआरसीटीसी ने ट्रेनों में कैटरिंग सर्विस को बंद करने के साथ ही देशभर में स्टेशनों, प्लेटफार्मों के बाहर और अंदर बनी फूड स्टाल पर पका हुआ भोजन बेचने पर रोक लगा दी थी. इस दौरान फूड प्लाजा पर केवल जूस, पानी, बर्गर और पैक्ड खाने-पीने का सामान बेचने की इजाजत दी थी. इस कारण फूड प्लाजा की आर्थिक हालत खराब होती गई, लेकिन आईआरसीटीसी के इस आदेश के बाद इनको कुछ राहत मिलेगी.

यह भी पढ़ें: वरिष्ठ नागरिकों को यहां मिलेगा मोटा मुनाफा! एफडी पर 8 फीसदी तक मिल रहा ब्याज

फूड प्लाजा में बैठ कर खाने की नहीं मिली अनुमति

आईआरसीटीसी के अधिकारियों के अनुसार अभी केवल फूड प्लाजा से पका हुआ खाना बेचने की परमिशन दी गई है, ऐसे में रेल यात्री केवल खाना पैक करा कर प्लेटफार्म, ट्रेन या अपने घर जा कर खा सकते हैं, वह फूड प्लाजा में बैठ कर खाना नहीं खा सकेंगे.
झारखंड, बिहार और बंगाल के लिए 15 से 100 नई ट्रेनें

भारतीय रेलवे ने दशहरा, दीपावली और छठ पर्व को देखते हुए झारखंड, बिहार और बंगाल के लिए 100 नई ट्रेन चलाने का फैसला किया है. वहीं दूसरी ओर यात्रियों की संख्या को देखते हुए इन ट्रेन की संख्या को आगे बढ़ा सकता है, साथ ही त्योहारों के मौसम को देखते हुए रेलवे 200 स्पेशल ट्रेनें चलाने जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज