अपना शहर चुनें

States

कृषि कानूनों के खिलाफ रेल रोको आंदोलन, पंजाब-हरियाणा में ट्रेन की पटरियों पर जमा हुए किसान

कृषि कानूनों के विरोध में हरियाणा के पलवल में रेलवे लाइन को जाम करते किसान. (ANI/18 Feb 2021)
कृषि कानूनों के विरोध में हरियाणा के पलवल में रेलवे लाइन को जाम करते किसान. (ANI/18 Feb 2021)

Rail Roko Aandolan: हरियाणा और पंजाब दोनों राज्यों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और सरकारी रेलवे पुलिस तथा राज्य पुलिस बल के कर्मियों को तैनात किया गया है.

  • Share this:
चंडीगढ़. केन्द्र के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में ‘रेल रोको’ प्रदर्शन के तहत पंजाब और हरियाणा में बृहस्पतिवार को किसान कई जगहों पर ट्रेन की पटरियों के पास एकत्र हो गए हैं. एहतियात के तौर पर अधिकारी ट्रेनों को स्टेशनों पर रोक रहे हैं. किसान आंदोलन के प्रमुख संगठन संयुक्त किसान मोर्चा ने कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग के लिए दबाव बनाने को लेकर 18 फरवरी को दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक ‘रेल रोको’ का आह्वान किया था.

भारतीय किसान यूनियन (एकता उग्रहान) के महासचिव सुखदेव सिंह कोकरीकलां ने बताया कि संगठन के सदस्य पंजाब के नाभा, मनसा, बरनाला, बठिंडा, फिरोजपुर, जालंधर और तरन तारन सहित 22 जगहों पर ट्रेन की पटरियां अवरुद्ध करेंगे. अधिकारियों ने बताया कि हरियाणा और पंजाब दोनों राज्यों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और सरकारी रेलवे पुलिस तथा राज्य पुलिस बल के कर्मियों को तैनात किया गया है.

उत्तर रेलवे के फिरोजपुर डिवीजन ने ट्रेनों को स्टेशन पर ही रोकने का फैसला लिया है ताकि यात्रियों को ‘रेल रोको’ आह्वान के कारण परेशानी ना उठानी पड़े. अधिकारियों ने बताया कि किसानों के ‘रेल रोको’ आह्वान के कारण ट्रेनें देरी से चल सकती हैं. उन्होंने बताया कि प्रदर्शन समाप्त होने के बाद सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए ट्रेन सेवा पुन:बहाल की जाएगी.



हरियाणा में रेलवे पुलिस के अलावा राज्य पुलिस के कर्मियों को भी बड़ी संख्या में प्रदर्शन स्थलों और विभिन्न स्टेशनों पर तैनात किया गया है. अंबाला डिवीजन के संभागीय प्रबंधक जी. एम. सिंह ने बताया कि ‘रेल रोको’ आह्वान के कारण कोई ट्रेन रद्द नहीं हुई है. हरियाणा के भिवानी जिले के एक किसान नेता ने बताया कि सिवानी और लोहारू सहित चार जगहों पर जिले में ट्रेन की पटरियां अवरुद्ध की जाएंगी.

अंबाला में किसान अंबाला कैंट स्टेशन से करीब दो किलोमीटर दूर शाहपुर गांव में पटरियों के पास एकत्र हुए. रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे के बीच अंबाला कैंट स्टेशन से होकर चार ट्रेनें गुजरने वाली हैं. अंबाला से भारतीय किसान यूनियन के नेता गुलाब सिंह मानकपुर ने कहा कि प्रदर्शन शांतिपूर्ण होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज