होम /न्यूज /राष्ट्र /वंदे भारत ट्रेन के हादसे के बाद आया रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का बड़ा बयान, जानें डिजाइन को लेकर क्या कहा

वंदे भारत ट्रेन के हादसे के बाद आया रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का बड़ा बयान, जानें डिजाइन को लेकर क्या कहा

गांधी नगर में हुए वंदे भारत ट्रेन के हादसे के बाद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने दिया बड़ा बयान.(ANI Photo)

गांधी नगर में हुए वंदे भारत ट्रेन के हादसे के बाद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने दिया बड़ा बयान.(ANI Photo)

वंदे भारत ट्रेन के हादसे के बाद अब रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव (Railway Minister Ashwini Vaishnav) का बड़ा बयान सामने आय ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अहमदाबाद के पहले बटवा और मणिनगर के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन से टकराई भैंस
रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा- पटरियों पर जानवरों से टक्कर को टाला नहीं जा सकता
ट्रेन का डिजाइन खास तरह से तैयार किया गया है- रेल मंत्री

आणंद (गुजरात).  रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि पटरियों पर जानवरों से टक्कर को टाला नहीं जा सकता. सेमी-हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत की डिजाइन तैयार करते समय इसका ध्यान रखा गया है. मालूम हो कि गांधीनगर-मुंबई सेंट्रल के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस गुरुवार को अहमदाबाद के पास वाटवा में 4 भैसों से टकरा गई थी. इसके चलते ट्रेन का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया था जिसे बाद में बदल दिया गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मार्ग पर 30 सितंबर को ट्रेन को झंडी दिखाकर रवाना किया था.

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि ट्रेन का डिजाइन खास तरह से तैयार किया गया है. यह बेहद मजबूत है तथा अगर कोई दुर्घटना होती भी है तो ट्रेन को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा. ट्रेन के अगले हिस्से को पूरी तरह से बदला जा सकता है. जैसी ही ट्रेन मुंबई पहुंची इसे पूरी तरह से साफ कर दिया गया और उसके अगले हिस्से को बदल दिया गया.

ट्रेन के डिजाइन पर दिया बड़ा बयान

मंत्री वल्लभ विद्यानगर में एक इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों के साथ बातचीत कर रहे थे. उन्होंने कहा, ‘ट्रेन को “बहुत सोच समझकर” डिजाइन किया गया है. मंत्री ने कहा कि भारत में जमीन पर पटरियां बिछाई जाती हैं. आप जहां भी जाएंगे, जानवर उन्हें पार करेंगे. उन्हें कोई नहीं रोक सकता. जब तक हम अगले पांच-छह सालों में पटरियों को ऊंचा नहीं कर लेते,  जानवर ट्रेनों के सामने आएंगे.

ये भी पढ़ें:  VIDEO: मुंबई से गांधीनगर जा रही वंदे भारत हादसे में क्षतिग्रस्त, ट्रेन से टकराई भैंस 

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘ट्रेनें 120-130-160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी और टक्कर होना लाजमी है. यह सामान्य ज्ञान और डिजाइन का मामला है, 0इसलिए इसे इस तरह से डिजाइन करें कि जब भी ऐसी कोई घटना हो तो आप इसे सुधार सकें. उन्होंने कहा कि ट्रेन को इसे ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है. वैष्णव ने कहा कि वंदे भारत ट्रेन के अगले संस्करण की रफ्तार 200 किलोमीटर प्रति घंटा होगी. गांधीनगर-मुंबई मार्ग पर चलने वाले इसके नवीनतम संस्करण की अधिकतम गति 160 किलोमीटर प्रतिघंटा है.

Tags: Indian Railways

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें