लाइव टीवी

IRCTC की चेतावनी के बाद वापस हुआ जाति आधारित भर्ती विज्ञापन, बासी खाने के लिए लगा होटल पर जुर्माना: रेलमंत्री

भाषा
Updated: November 29, 2019, 7:01 PM IST
IRCTC की चेतावनी के बाद वापस हुआ जाति आधारित भर्ती विज्ञापन, बासी खाने के लिए लगा होटल पर जुर्माना: रेलमंत्री
रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि ठेकेदार को चेतावनी दी गई है (फाइल फोटो, PTI)

रेल मंत्री पीयूष गोयल (Railway Minister Piyush Goyal) ने शुक्रवार को बताया कि तेज गति की ट्रेन वंदे भारत (Vande Bharat) में बासी खाना वितरित करने वाले सेवा प्रदाता को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया, उस पर एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. रेलवे में खानपान सेवा से संबंद्ध एक कंपनी ने जाति आधारित भर्ती विज्ञापन (Recruitment Advertisement) को ‘इंडियन रेलवे कैटरिंग एवं टूरिज्म कॉर्पोरेशन’’ (IRCTC) की ओर से कड़ी चेतावनी तथा स्पष्टीकरण मांगे जाने के बाद क्षमा मांगते हुए वापस ले लिया है.

रेल मंत्री पीयूष गोयल (Railway Minister Piyush Goyal) ने शुक्रवार को राज्यसभा (Rajya Sabha) को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी.

रेलमंत्री ने दी सफाई, 'जाति आधारित भर्ती के संबंध में कभी कोई आदेश नहीं दिया जाता'
उन्होंने बताया कि आईआरसीटीसी (IRCTC) के एक निजी कैटरिंग टेकेदार ‘‘मैसर्स वृंदावन फूड प्रोडक्ट्स’’ ने समाचार पत्रों में केवल अग्रवाल वैश्य समुदाय के कर्मचारियों की भर्ती संबंधी एक विज्ञापन (Advertisement) प्रकाशित कराया था.

गोयल ने बताया कि आईआरसीटीसी ऐसे विज्ञापनों का समर्थन नहीं करता और इस संबंध में ठेकेदार (Contractor) को कड़ी चेतावनी दी गई. उन्होंने बताया कि आईआरसीटीसी ने ठेकेदार से तत्काल स्पष्टीकरण मांगा जिसके बाद ठेकेदार ने क्षमा मांगते हुए इस विज्ञापन को वापस ले लिया.

रेल मंत्री ने बताया कि भारतीय रेल (Indian Railways) की ओर से रेलों में खानपान सेवाओं सहित विभिन्न कंपनियों में कार्यरत कर्मचारियों की जाति आधारित भर्ती के संबंध में कभी कोई आदेश नहीं दिए जाते.

लैंडमार्क होटल, कानपुर को जारी किया गया 'कारण बताओ नोटिस'
Loading...

सरकार ने शुक्रवार को बताया कि तेज गति की ट्रेन वंदे भारत (Vande Bharat) में बासी खाना वितरित करने वाले सेवा प्रदाता को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया, उस पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया और नए सेवा प्रदाता की नियुक्ति के लिए प्रक्रिया भी प्रारंभ कर दी गई है.

रेल मंत्री पीयूष गोयल (Railway Minister Piyush Goyal) ने शुक्रवार को राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि 17 नवंबर 2019 को नयी दिल्ली से वाराणसी जा रही वंदे भारत ट्रेन (गाड़ी संख्या 22435-36) में बासी खाना परोसे जाने की शिकायत दर्ज कराई गई थी. इस मामले की जांच की गई.

नए सेवा प्रदाता की नियुक्ति की प्रक्रिया भी शुरू की गई
गोयल ने बताया कि गाड़ी में रात के खाने की आपूर्ति करने वाले सेवा प्रदाता मैसर्स होटल लैंडमार्क, कानपुर को खानपान सेवा मानकों का पालन न करने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया गया और उस पर एक लाख रुपये का जुर्माना (Penalty) लगाया गया.

उन्होंने बताया कि घटना के समय गाड़ी में मौजूद आईआरसीटीसी के संबंधित पर्यवेक्षकों पर नियमानुसार कार्रवाई की जा रही है. साथ ही नए सेवा प्रदाता (Service Provider) की नियुक्ति के लिए प्रक्रिया भी प्रारंभ कर दी गई है.

यह भी पढ़ें: अर्थव्यवस्था को एक और झटका, कोर सेक्टर 10 साल के निचले स्तर पर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 7:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...