अब ट्रेनों में लगेंगे AI से लैस कैमरे, अपराधी के चढ़ते ही कंट्रोल रूम को पहुंच जाएगी सूचना- रिपोर्ट

रिपोर्ट के मुताबिक, संदिग्धों को पकड़ने के लिए कोच में चार मेगा पिक्सल के कैमरे लगाए जा रहे हैं, जिससे अंधेरे में भी संदिग्धों पर नजर रखी जा सकेगी.

News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 9:52 AM IST
अब ट्रेनों में लगेंगे AI से लैस कैमरे, अपराधी के चढ़ते ही कंट्रोल रूम को पहुंच जाएगी सूचना- रिपोर्ट
ट्रेन में अपराधी के चढ़ते ही कंट्रोल रूप को पहुंच जाएगी सूचना
News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 9:52 AM IST
रेल यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ट्रेनों में बहुत जल्द स्मार्ट कोच लगाए जाएंगे. हिन्दी अखबार भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, ये कोच आर्टिफिशयल इंटेलिजेंसी (एआई) सिस्टम से लैस होंगे. इन कोच में सुरक्षा के लिहाज से दो तथा सुविधाओं के लिहाज से छह अहम बदलाव किए जा रहे हैं. एआई सिस्टम की खास बात यह है कि इसके जरिए संदिग्ध चेहरों को पहचानकर सीधे कंट्रोल रूम को सूचना दी जा सकेगी. इस सिस्टम में देशभर के अपराधियों की फोटो और उनके जुड़ी हर छोटी-बड़ी जानकारी डाली जाती है और इसे क्लाउड इंटरनेट के सहारे जोड़ दिया जाता है. इससे अगर ट्रेन में या फिर प्लेटफॉर्म पर कोई संदिग्ध दिखाई देता है तो इसकी जानकारी तुरंत कंट्रोल रूम में पहुंच जाती है.

रिपोर्ट के मुताबिक, संदिग्धों को पकड़ने के लिए कोच में चार मेगा पिक्सल के कैमरे लगाए जा रहे हैं, जिससे अंधेरे में भी संदिग्धों पर नजर रखी जा सकेगी. ये कैमरे कोच में चढ़ने वाले हर यात्री के फोटो को सिस्टम में पहले से डाले गए संदिग्ध फोटो से मिलान करेगा, उसके बाद संदिग्ध अपराधी मिलने पर इसकी जानकारी कंट्रोल रूम को देगा. यही नहीं अगर कोई कोच में हथियार लेकर चढ़ेगा तो कोच का सेंसर सिस्टम उसकी जानकारी भी कंट्रोल रूम को भेज देगा.

Indian Railways, Train, Cloud, Criminal, Internet, Caffeit Express

इसके अलावा कोच में ऐसे सेंसर सिस्टम लगाए गए हैं, जो पहले ही इस बात की जानकारी देना शुरू कर देंगे कि पानी खत्म होने वाला है. इसी के साथ कोच का पहिया गर्म हो गया है या फिर कोच में किसी भी तरह की तकनीकी खराबी आ गई है. इस तरह की हर सूचना अगले स्टेशन मास्टर के पास पहुंच जाएगी.

तीन महीने में 100 ट्रेनों में होगा ट्रायल
उत्तर रेलवे अगले तीन महीनों में 100 ट्रेनों में ऐसे आधुनिक कोच लगा देगा. इस तरह के कोच का पहला ट्रायल दिल्ली से आजमगढ़ के बीच चलने वाली कैफियत एक्सप्रेस में किया जाएगा. यह कोच पैसेंजर इंफॉर्मेशन एंड कोच कंप्यूटर यूनिट से लैस है. कोच में लगे कैमरों की रिकॉर्डिंग गूगल क्लाउड पर रिकॉर्ड होगी. अधिकारी ट्रेन का लाइव स्टेटस मोबाइल फोन या लैपटॉप पर भी देख सकेंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 28, 2019, 9:02 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...