राज ठाकरे का बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में उद्धव सरकार लंबे समय तक नहीं चलेगी

राज ठाकरे का बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में उद्धव सरकार लंबे समय तक नहीं चलेगी
ठाकरे ने कहा,मुझे नहीं लगता कि ये सरकार लंबे समय तक चलेगी ... यह मेरी इच्छा नहीं है कि इसे गिरना चाहिए

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thakrey) ने शुक्रवार को कहा कि शिवसेना (Shiv sena), राकांपा और कांग्रेस (Congress) के गठबंधन वाली महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार लंबे समय तक नहीं चलेगी क्योंकि सत्तारूढ़ सहयोगियों के बीच एकता का अभाव है.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thakrey) ने शुक्रवार को कहा कि शिवसेना (Shiv sena), राकांपा और कांग्रेस (Congress) के गठबंधन वाली महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार लंबे समय तक नहीं चलेगी क्योंकि सत्तारूढ़ सहयोगियों के बीच एकता का अभाव है. उन्होंने कोविड-19 (Covid-19) पर कहा कि बीमारी के बारे में लोगों के मन में जो भय है, उसे दूर करना आवश्यक था.

राज ठाकरे ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि ये सरकार लंबे समय तक चलेगी ... यह मेरी इच्छा नहीं है कि इसे गिरना चाहिए. लेकिन सरकार, जिसमें कोई एकता नहीं है (सत्तारूढ़ साझेदारों के बीच) और जो एक दूसरे से विचार-विमर्श नहीं करते हैं , वो लंबे समय तक नहीं चलेगी.' उन्होंने एक मराठी समाचार चैनल द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान यह टिप्पणी की.

मास्क पहनने पर ये राय रखते हैं ठाकरे
महामारी के दौरान मास्क पहनने पर उनकी राय के बारे में पूछे जाने पर राज ठाकरे ने कहा, इसकी आवश्यकता नहीं है. मनसे नेता ने याद करते हुए कहा कि मीडिया ने उनसे सवाल पूछे थे, जब कोविड-19 स्थिति पर चर्चा के लिए गत मई में मुख्यमंत्री द्वारा बुलाई गई सर्व-दलीय बैठक में शामिल होने के दौरान उन्होंने मास्क नहीं पहना था.
ठाकरे ने बैठकों में भी नहीं पहना मास्क


उन्होंने कहा, 'मैंने (बैठक के दौरान) मास्क नहीं पहना था और इसके बाद भी ऐसा कभी नहीं किया.' हालांकि ठाकरे ने कहा कि बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में निर्देशों का पालन किया जाना चाहिए और स्वच्छता बनाये रखना चाहिए.

राम मंदिर भूमि पूजन टाला जा सकता था
ठाकरे ने शुक्रवार को कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 संकट के मद्देनजर अयोध्या में राम मंदिर के लिए अभी ‘भूमि पूजन’ कार्यक्रम आयोजित करने की आवश्यकता नहीं थी और इसे स्थिति सामान्य होने के बाद आयोजित किया जा सकता था. राम मंदिर के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम पांच अगस्त को आयोजित किया जा रहा है. ठाकरे ने ‘ई- भूमि पूजन’ के महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के सुझाव को भी खारिज कर दिया और कहा कि भूमि पूजन का कार्यक्रम बड़े उत्साह के साथ आयोजित किया जाना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading