होम /न्यूज /राष्ट्र /Rajasthan Congress Crisis: 'जादूगर' आएगा संकट को दूर भगाएगा, पर इस बार उनकी पोटली में क्‍या होगा?

Rajasthan Congress Crisis: 'जादूगर' आएगा संकट को दूर भगाएगा, पर इस बार उनकी पोटली में क्‍या होगा?

सोनिया गांधी और अशोक गहलोत की जल्‍द ही मुलाकात की उम्‍मीद जताई जा रही है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी ग्राफिक्‍स)

सोनिया गांधी और अशोक गहलोत की जल्‍द ही मुलाकात की उम्‍मीद जताई जा रही है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी ग्राफिक्‍स)

Rajasthan News: राजस्‍थान कांग्रेस में छाए संकट के बादल फिलहाल छंटे नहीं हैं. अब सबकी निगाहें कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

सोनिया गांधी और अशोक गहलोत के बीच संभावित मुलाकात पर टिकीं निगाहें
28 या फिर 29 सितंबर को दोनों नेताओं के बीच हो सकती है मीटिंग
राजस्‍थान में संकट के बीच सचिन पायलट खेमा भी सक्रिय होने लगा है

नई दिल्‍ली. राजस्‍थान कांग्रेस में मचे उथल-पुथल के बीच कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. सबसे बड़ा प्रश्‍न तो पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष के चुनाव और मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत को लेकर है. अशोक गहलोत अध्‍यक्ष पद के लिए सबसे सशक्‍त उम्‍मीदवार माने जा रहे थे, लेकिन राजस्‍थान के मौजूदा संकट को देखते हुए इसको लेकर संशय गहरा गया है. इस बीच, ऐसी खबरें भी सामने आ रही हैं कि राजस्‍थान में ‘जादूगर’ के नाम से मशहूर सीएम गहलोत बुधवार या फिर गुरुवार पार्टी की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकते हैं. बताया यह भी जा रहा है कि इस मीटिंग में अशोक गहलोत मौजूदा संकट को दूर करने का तरीका भी बता सकते हैं. दूसरी तरफ, मीडिया में ऐसी खबरें भी सामने आने लगी हैं कि अब सचिन पायलट भी माहौल को भांपते हुए खेमेबंदी में जुट गए हैं.

राजस्‍थान में पैदा हुआ संकट कांग्रेस आलाकमान के लिए सिरदर्द बना हुआ है. ऐसे में माना जा रहा है कि अशोक गहलोत 28 या फिर 29 सितंबर को सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकते हैं. इस बैठक में वह मौजूदा संकट से निपटने के लिए समाधान भी सुझा सकते हैं. राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष के चुनाव से पहले राजस्‍थान में पैदा हुए अंतर्कलह से आलाकमान भी परेशान है. इससे पहले सोनिया गांधी और अशोक गहलोत के बीच बातचीत होने की खबरें सामने आई थीं, जिसका गहलोत के कार्यालय के प्रवक्‍ता ने खारिज किया है. उनका कहना है कि उन्‍हें अभी भी आलाकमान के निर्देश का इंतजार है कि आगे अब क्‍या करना है. वहीं, पार्टी के अन्‍य वरिष्‍ठ नेता अध्‍यक्ष पद के लिए विकल्‍प तलाशने की संभावनाओं से इनकार भी नहीं कर रहे हैं.

CM अशोक गहलोत अभी भी लड़ सकते हैं राष्ट्रीय अध्य्क्ष का चुनाव! आलाकमान को पेश की गई रिपोर्ट में मिला क्लीन चिट 

सोनिया गांधी को समाधान निकलने का भरोसा
मीडिया रिपोर्ट में कांग्रेस नेताओं-पदाधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि पार्टी की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी को मौजूदा संकट का समाधान निकलने की उममीद है. वे बताते हैं कि सोनिया गांधी ने संकेत दिए है कि इस संकट को सुलझाया जा सकता है. उनका मानना है कि यह कोई ऐसा मसला नहीं है, जिसका समाधान नहीं निकाला जा सकता है. दूसरी तरफ, गहलोत कैंप ने भी आलाकमान को यह बताने की कोशिश की है कि यह विरोध कांग्रेस अध्‍यक्ष या राहुल गांधी के खिलाफ नहीं है.

क्‍या करेंगे सचिन पायलट?
राजस्‍थान के पूर्व उपमुख्‍यमंत्र सचिन पायलट को इस पूरे घटनाक्रम में मौका दिख रहा है. सचिन पायलट ने अब अपने समर्थकों के अलावा दूसरे विधायकों से भी एक बार फिर से संपर्क साधना शुरू कर दिया है. उन्हें लगता है कि अशोक गहलोत के खिलाफ कोई ऐक्शन होता है तो उन्हें मौका मिल सकता है. दूसरी तरफ, गहलोत कैंप किसी भी तरह सचिन पायलट को राजस्‍थान की सत्‍ता से दूर रखने में जुटे हैं. ऐसे में आने वाले कुछ दिन राजस्‍थान कांग्रेस और पार्टी के राष्‍ट्रीय नेतृत्‍व के लिए काफी अहम हो सकते हैं.

Tags: CM Ashok Gehlot, Interim President Sonia Gandhi, Rajasthan news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें