• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • राजस्थान सरकार के लेटरहेड पर अब लगेगी दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर

राजस्थान सरकार के लेटरहेड पर अब लगेगी दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर

जनसंघ के संस्थापक थे दीन दयाल उपाध्याय.

जनसंघ के संस्थापक थे दीन दयाल उपाध्याय.

अब से राजस्थान सरकार के आधिकारिक लेटरहेट पर अशोक स्तंभ के साथ-साथ दीन दयाल उपाध्याय की तस्वीर भी रहेगी. वसुंधरा राजे सरकार ने इसके लिए बाकायदा एक आदेश जारी किया है जिसके मुताबिक जनसंघ के संस्थापक की जन्म शताब्दी और राज्य सरकार की चौथी सालगिरह मनाने के लिए ऐसा किया जा रहा है

  • Share this:
    राजस्थान सरकार के आधिकारिक लेटरहेट पर अब अशोक स्तंभ के साथ दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर भी रहेगी. वसुंधरा राजे सरकार ने इसके लिए बाकायदा एक आदेश जारी किया है, जिसके मुताबिक जनसंघ के संस्थापक की जन्मशती और राज्य सरकार की चौथी सालगिरह मनाने के लिए यह फैसला लिया गया है. बीजेपी के विधायक और सांसद इस साल अगस्त से अपने पर्सनल लेटरहेड पर उपाध्याय की तस्वीर का इस्तेमाल कर रहे हैं.

    राजस्थान की बीजेपी सरकार के इस फैसले की काफी आलोचना हो रही है. कांग्रेस के राजस्थान चीफ सचिन पायलट ने कहा कि यह नियमों के खिलाफ है. उन्होंने कहा, "सरकार के लेटरहेड पर ऐसे व्यक्ति की तस्वीर लगाना जो कभी किसी संवैधानिक पद पर नहीं रहे पूरी तरह से असंगत है. उन्हें अपनी पार्टी के दायरे में रहते हुए अपने नेता का सम्मान करना चाहिए, लेकिन इसे सरकारी बनाना नियमों के विरुद्ध है."

    कांग्रेस ने राज्य सरकार के इस फैसले के खिलाफ कोर्ट में अपील करने का फैसला किया है.

    राजस्थान सरकार द्वारा जारी सरकुलर.


    राजस्थान सरकार पहली राज्य सरकार है, जिसने अपने लेटरहेड में दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर लगाने का फैसला किया है. हालांकि केंद्र सरकार के लेटरहेड में उनकी तस्वीर का पहले भी उपयोग किया जा चुका है. इस साल अक्टूबर में टेलीग्राफ ने रिपोर्ट किया था कि मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने उपाध्याय की तस्वीर का इस्तेमाल अपने आधिकारिक लेटरहेड पर किया था.

    केंद्र में बीजेपी की सरकार आने के बाद से दीनदयाल उपाध्याय का नाम काफी चर्चा में आया है. इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन कर दिया गया था. पीएम मोदी ने कई सरकारी योजनाओं का नाम उपाध्याय के नाम पर रखा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज