राजस्थान फोन टैपिंग मामले में सरकार गंभीर, गृह मंत्रालय ने मुख्‍य सचिव से मांगी रिपोर्ट

राजस्थान फोन टैपिंग मामले में गृह मंत्रालय ने राज्य के गृह सचिव से मांगी रिपोर्ट

Rajasthan Phone Tapping Case: गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने मुख्‍य सचिव से पूछा कि किस मकसद से और किन-किन लोगों गका फोन टैप किया गया? राजस्थान में सरकार को गिराने एवं पार्टी तोड़ने का प्रयास करने के कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए भाजपा ने शनिवार को इस घटनाक्रम को झूठ और फरेब की कथा करार दिया.

  • Share this:
    नई दिल्ली. राजस्‍थान फोन टैपिंग (Rajasthan Phone Tapping) मामले पर अब केंद्र सरकार गंभीर हो गई है. केंद्रीय गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने शनिवार को राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) के मुख्‍य सचिव से फोन टैपिंग मामले पर रिपोर्ट मांगी है. गृह मंत्रालय ने मुख्‍य सचिव से पूछा कि किस मकसद से और किन-किन लोगों का फोन टैप किया गया? राजस्थान में सरकार को गिराने एवं पार्टी तोड़ने का प्रयास करने के कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए भाजपा ने शनिवार को इस घटनाक्रम को झूठ और फरेब की कथा करार दिया. पार्टी ने कहा कि सारा षड्यंत्र उन्हीं के घर में रचा जा रहा था और संवैधानिक प्रावधानों को ताक पर रखकर फोन टैंपिंग किये जाने सहित विभिन्न प्रकरण की सीबीआई से जांच कराई जानी चाहिए.

    कांग्रेस ने शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा नेता गजेंद्र सिंह शेखावत तथा कांग्रेस के बागी विधायक भंवरलाल शर्मा को गिरफ्तार करने की मांग की. दरअसल, राज्य की अशोक गहलोत सरकार को गिराने की काथित साजिश से जुड़ी दो 'ऑडियो क्लिप' सामने आई है. सुरजेवाला ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि वह कोरोना वायरस महामारी के दौरान कांग्रेस सरकारें गिराने में व्यस्त हैं. वहीं, केंद्रीय मंत्री शेखावत ने अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि इन ऑडियो रिकार्डिंग में उनकी आवाज नहीं है और वह किसी भी जांच का सामना करने को तैयार हैं.

    संबित पात्रा ने राजस्‍थान सरकार पर लगाए ये आरोप
    भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने संवाददाताओं से कहा, 'राजस्थान में कांग्रेस की राजनीतिक नौटंकी हम देख रहे हैं. षड्यंत्र, झूठ फरेब और कानून को ताक पर रखकर कैसे काम किया जाता है, यह उसका मिश्रण है.' उन्होंने कहा कि कुछ ऑडियो टेप के माध्यम से आरोप लगाया जा रहा है कि भाजपा द्वारा कांग्रेस पार्टी को तोड़ने का प्रयास किया जा रहा है. भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि इसमें कोई तथ्य नहीं है बल्कि सारा षड्यंत्र उन्हीं के घर में रचा जा रहा था. उन्होंने कहा कि राजस्थान में जो कुछ हो रहा है, वह तथाकथित बनाम प्रत्यक्ष का उदाहरण है.

    पात्रा ने सवाल किया, 'क्या राजस्थान में फोन टैपिंग की जा रही थी और क्या यह आधिकारिक स्तर पर की जा रही थी? क्या मानक प्रक्रियाओं (एसओपी) का पालन हुआ? क्या फोन टैपिंग इत्यादि की गयी? क्या सभी राजनीतिक पार्टी के सभी लोगों के साथ इस प्रकार का व्यवहार किया जा रहा है? इसे लेकर सीबीआई द्वारा तत्काल जांच होनी चाहिए.' भाजपा प्रवक्ता ने सवाल उठाया कि क्या राजस्थान में परोक्ष रूप से आपातकाल नहीं लगाया जा रहा? उन्होंने पूछा कि क्या कांग्रेस सरकार ने स्वयं को विपरीत परिस्थितियों में पाकर अपनी सरकार को येनकेन प्रकारेण बचाने के लिये कानून को ताक पर नहीं रखा?

    ये भी पढ़ें: LIVE: गवर्नर से मिले सीएम गहलोत, अगले सप्ताह शॉर्ट टर्म विधानसभा सत्र संभव

    उन्होंने कहा, 'भाजपा इस पूरे प्रकरण की सीबीआई द्वारा जांच की मांग करती है. इससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जायेगा.' गौरतलब है कि राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच ऑडियो क्लिप सामने आया है. इस टेप का हवाला देकर कांग्रेस ने राजस्थान में सरकार गिराने के लिए खरीद फरोख्त की कोशिश होने का आरोप लगाया है. कांग्रेस ने शुक्रवार को गहलोत सरकार को गिराने की कथित साजिश से जुड़े दो आडियो टेप सामने आने के बाद केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत और कांग्रेस के बागी विधायक को गिरफ्तार करने की मांग की.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.