राजस्थान: कथित ऑडियो टेप पर गजेंद्र सिंह शेखावत की सफाई- इसमें नहीं है मेरी आवाज

राजस्थान: कथित ऑडियो टेप पर गजेंद्र सिंह शेखावत की सफाई- इसमें नहीं है मेरी आवाज
गजेंद्र सिंह शेखावत (File Photo)

Rajasthan Crisis: कांग्रेस ने इस कथित ऑडियो के जरिए बीजेपी नेताओं पर आरोप लगाया है कि वो राजस्थान में विधायकों की खरीद फरोख्त करने की कोशिश कर रहे थे.

  • Share this:
नई दिल्ली. राजस्थान में जारी राजनीतिक घटनाक्रम के बीच मीडिया में वायरल हुए ऑडियो को केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekhawat) ने खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा कि उस ऑडियों में उनकी आवाज़ नहीं है. बता दें कि बीजेपी ने कहा है कि ऑडियो टेप के बहाने उनके नेताओं की इमेज खराब करने की कोशिश की जा रही है. कांग्रेस ने इस ऑडियो के जरिए बीजेपी नेताओं पर आरोप लगाया है कि वो राजस्थान में विधायकों की खरीद फरोख्त करने की कोशिश कर रहे थे.

शेखावत की सफाई
गजेंद्र सिंह शेखावत ने ऑडियो पर सफाई देते हुए कहा कि वो किसी भी तरह की जांच के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा, 'इस ऑडियो में मेरी आवाज नहीं है. मैं हर तरह की जांच के लिए तैयार हूं. एसओजी या कोई भी दूसरी एजेंसी के बुलाने पर मैं हर तरह का जवाब देने के लिए तैयार हूं.'

इमेज खराब करने की कोशिश
इससे पहले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने इस ऑडियो टेप पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा, ‘आज जो कुछ हुआ उसने राजस्थान की राजनीति को शर्मसार किया है कि मुख्यमंत्री निवास फर्जी ऑडियो का केंद्र बन जाए और नेताओं के चरित्र हनन का प्रयास हो.’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपने घर की फिक्र करने के बजाय भाजपा और केंद्रीय मंत्रियों पर आरोप लगा रही है. पूनिया के अनुसार महामारी के बीच राज्य सरकार एक बार फिर रिजॉर्ट में बंद है जो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है.



राठौड़ बोले फर्जी है ऑडियो
उधर  भाजपा नेता और विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ ने इस ऑडियो टेप को फर्जी बताया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा ‘ये फर्जी ऑडियो जारी करने से ये सिद्ध हो गया है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से निजता पर हमला जारी है. साथ ही बड़े स्तर पर फोन टैप कर जनता में भ्रम फैलाया जा रहा है ये अत्यन्त शर्मनाक है.’

कांग्रेस का आरोप
उल्लेखनीय है कि इस कथित ऑडियो में बातचीत कर रहे लोगों के बारे में कांग्रेस का दावा है कि ये आवाज कांग्रेस के बागी विधायक भंवरलाल शर्मा, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और भाजपा नेता संजय जैन की है जिनमें कथित तौर पर विधायकों की खरीद फरोख्त के बारे में चर्चा हो रही है. पार्टी ने आरोप लगाया है कि शेखावत राज्य में कांग्रेस सरकार को गिराने की साजिश में शामिल हैं और भाजपा को उन्हें पद से बर्खास्त करना चाहिए. पार्टी ने अपने बागी विधायकों के खिलाफ भी कड़ा रुख अपनाते हुए विश्वेंद्र सिंह व भंवरलाल शर्मा को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज