Rajasthan Political Crisis: सचिन पायलट का छलका दर्द, बोले- राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद से अशोक गहलोत मुझे निशाना बनाने लगे

Rajasthan Political Crisis: सचिन पायलट का छलका दर्द, बोले- राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद से अशोक गहलोत मुझे निशाना बनाने लगे
राहुल गांधी के साथ सचिन पायलट और अशोक गहलोत की फाइल फोटो

Rajasthan Political Crisis: सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने कहा कि गांधी परिवार की नजर में गिराने के लिए राजस्थान के कुछ नेता इन अफवाहों को हवा दे रहे हैं कि मैं भाजपा में शामिल होने जा रहा हूं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 15, 2020, 11:51 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजस्थान में राजनीतिक उठापटक के बीच सचिन पायलट (Sachin Pilot) का मीडिया के सामने एक बार फिर दर्द छलक उठा. राजस्थान सरकार में उपमुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाए जाने के अगले दिन पायलट ने कहा कि राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद से अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और उनके करीबी उन्हें निशाना बनाने लगे थे और ऐसे में उनके लिए स्वाभिमान की रक्षा करना मुश्किल हो गया था.

दरअसल पायलट से पूछा गया कि क्या राहुल गांधी से इन दिनों उनकी बात हुई, इसके जवाब में राजस्थान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष  ने कहा,  'राहुल गांधी (Rahul Gandhi) अब कांग्रेस अध्यक्ष नहीं हैं. उनके जाने के बाद गहलोत जी और AICC में उनके दोस्त मेरे खिलाफ इकट्ठा हो गए. इसके बाद से ही मेरे लिए मेरे स्वाभिमान की रक्षा करना भी मुश्किल हो गया.' पायलट ने कहा कि 'कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी से मेरी कोई बातचीत नहीं हुई. प्रियंका गांधी जी ने मुझसे फोन पर बात की. यह एक व्यक्तिगत बातचीत थी. यह बातचीत किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची.'

मैं भाजपा में शामिल नहीं हो रहा हूं: पायलट
वहीं पायलट ने एक बार फिर दोहराया है कि वह अब भी कांग्रेसी हैं और भारतीय जनता पार्टी (BJP) जॉइन नहीं करेंगे. बीजेपी में शामिल होने के सवाल पर पायलट ने कहा कि गांधी परिवार की नजरों में मुझे गिराने के लिए राजस्थान के कुछ नेता इन अफवाहों को हवा दे रहे हैं कि मैं भाजपा में शामिल होने जा रहा हूं, जबकि यह सच नहीं है.' दोनों प्रमुख पदों से हटाए जाने के बाद पायलट ने पहली बार सार्वजनिक रूप से इतनी विस्तृत टिप्पणी की है. माना जा रहा है कि वह जल्द ही अपने अगले कदम के बारे में कोई निर्णय करेंगे.
गौरतलब है कि अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ बगावती रुख अपनाने वाले पायलट एवं उनके साथी नेताओं के खिलाफ कांग्रेस ने मंगलवार को कड़ी कार्रवाई की. पायलट को उपमुख्यमंत्री पद के साथ-साथ पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद से भी हटा दिया गया. वहीं उनके दो समर्थकों को भी मंत्रि पद से बर्खास्त कर दिया गया है. बता दें मंगलवार को पायलट को राज्य की कांग्रेस इकाई के अध्यक्ष और सरकार में डिप्टी सीएम के पद से हटा दिया गया. वहीं विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने पायलट और उनके समर्थक विधायकों को नोटिस जारी किया है. इसके साथ ही कांग्रेस ने भी बागी नेताओं को नोटिस जारी कर दो दिन में जवाब मांगा है. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading