तेजस क्लास के हाई क्‍वालिटी कोच से लैस हुई राजधानी एक्सप्रेस, यात्रियों को मिलेंगी ये सुविधाएं

राजधानी एक्‍सप्रेस में लगाए गए खास रैक. (File pic)

Rajdhani Express: मुंबई सेंट्रल से दिल्ली के निजामुद्दीन स्टेशन तक चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस में जो स्मार्ट रैक लगाया गया है, उसमें ऑटोमैटिक दरवाजें हैं. वो जब तक बंद नहीं होंगे, तब तक ट्रेन नहीं चलेगी.

  • Share this:
मुंबई. मुंबई (Mumbai) से दिल्ली के बीच चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन (Rajdhani Express) को रेलवे ने अत्याधुनिक हाई क्‍वालिटी के रैक से लैस कर दिया है. राजधानी एक्सप्रेस में एलएचबी कोच को हटाकर तेजस क्लास के हाई क्‍वालिटी के स्मार्ट रैक को लगाया है, जो अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस हैं. रेलवे का दावा है कि स्मार्ट रैक के जुड़ने से यात्रियों की यात्रा न सिर्फ आरामदायक, बल्कि सुरक्षित भी होगी.

मुंबई सेंट्रल से दिल्ली के निजामुद्दीन स्टेशन तक चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस में जो स्मार्ट रैक लगाया गया है, उसमें ऑटोमैटिक दरवाजे हैं. वो जब तक बंद नहीं होंगे, तब तक ट्रेन नहीं चलेगी. इन दरवाजों का कंट्रोल ट्रेन के लोको पायलट के पास होगा.

इस ट्रेन में तेजस के जो रैक लगाए गए हैं, उसमें सभी कोचों में पहली बार सोने वाली सीटें लगाई गई हैं. इसमें 3AC, 2AC और फर्स्ट AC कोच शामिल हैं, जिसके जरिए यात्रियों का सफर आरामदायक होगा, जबकि मुंबई-अहमदाबाद तेजस में सिर्फ सीटिंग सीटें ही लगी हुई हैं.

ट्रेन में एयरक्राफ्ट की तर्ज पर वायो वैक्यूम टॉयलट सिस्टम लगाया गया है, जिसके जरिये पानी का इस्तेमाल कम होगा और इस्तेमाल ज्यादा यात्री कर सकेंगे. सभी डिब्बों को फायर अलार्म और डिटेक्शन सिस्टम से लैस किया गया है. अगर किसी भी कोच में धुआं दिखता है तो फायर अलार्म में लगा सेंसर उसे डिटेक्ट कर लेगा और ऑटोमैटिक ब्रेक लग जाएगा.

सभी डिब्बों में अत्याधुनिक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिसे डे-नाइट विजन, फेस रेकोगनाइजेशन और वीडियो रिकॉर्डिंग सिस्टम से लैस किया गया है. यात्रियों के सफर को मनोरंजनमय बनाने के लिए रेलवे ने सभी कोचों को वाई-फाई से लैस किया है, जिसके जरिये यात्रा के दौरान यात्री फ़िल्म और म्यूजिक का आनंद ले सकेंगे. इतना ही नहीं, इस ऐप के जरिए यात्री कोच अटेंडेंट के संपर्क में भी रह सकते हैं.

इसके अलावा पैसेंजर इनफार्मेशन सेंटर, डिजिटल डेस्टिनेशन बोर्ड, मेडिकल या सुरक्षा इमरजेंसी की स्थिति में आपातकालीन टॉकबैक से भी सभी कोचों को लैस किया गया है. इतना ही नही, टॉयलेट ऑक्यूपेंसी और पानी की उपलब्धता बताने के लिए भी सेंसर लगाया गया है.

दरअसल राजधानी एक्सप्रेस को मॉडिफाई करने का काम आरसीएफ कपूरथला की तरफ से किया गया है. रेलवे की योजना है कि कई ट्रेनों को मॉडिफाई करके उनके पुराने कोच को हटाकर नए और स्मार्ट रैक लगाएं जाएं. इसी योजना के तहत मॉडिफाई होने वाली राजधानी एक्सप्रेस पहली ट्रेन है. आने वाले समय के कई अन्य ट्रेनों को भी इसी तरह से मॉडिफाई करने की रेलवे की योजना है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.