Home /News /nation /

रजनीकांत ने भंग किया अपना सियासी संगठन, कहा -राजनीति में वापसी का कोई प्लान नहीं

रजनीकांत ने भंग किया अपना सियासी संगठन, कहा -राजनीति में वापसी का कोई प्लान नहीं

रजनीकांत ने मंदरम को किया भंग. (File pic)

रजनीकांत ने मंदरम को किया भंग. (File pic)

अभिनेता रजनीकांत (Rajinikanth) ने कुछ घंटे पहले अपने प्रशंसकों और मंदरम के पदाधिकारियों के समक्ष सवाल उठाया था कि 'मैं भविष्य में राजनीति में आने जा रहा हूं या नहीं.'

    चेन्नई. अभिनेता रजनीकांत (Rajinikanth) ने सोमवार को घोषणा की कि वह रजनी मक्कल मंदरम (Rajini Makkal Mandram) को भंग कर रहे हैं जिसका गठन उनके सियासत में प्रवेश के लिये किया गया था और कहा कि उनका भविष्य में राजनीति में शामिल होने का कोई इरादा नहीं है.

    उन्होंने कुछ घंटे पहले अपने प्रशंसकों और मंदरम के पदाधिकारियों के समक्ष सवाल उठाया था कि “मैं भविष्य में राजनीति में आने जा रहा हूं या नहीं”, अभिनेता ने पदाधिकारियों से चर्चा के बाद कहा कि वह राजनीति में नहीं जाएंगे.

    उन्होंने संभवत: अपने पूर्व में प्रस्तावित राजनीति करने के इरादे, जिसे उन्होंने बाद में छोड़ दिया, के संदर्भ में कहा कि परिस्थितियों के कारण “हमने जो सोचा था वह फलीभूत नहीं हुआ.” उन्होंने एक बयान में कहा, “मेरा भविष्य में खुद को राजनीति में शामिल करने का कोई इरादा नहीं है.”

    उन्होंने कहा, इसलिए आरएमएम को भंग किया जाता है और पदाधिकारी पूर्व की तरह रजनीकांत फैंस फोरम (रजनीकांत रसीगर नरपानी मंदरम) के तहत काम करेंगे जिसका उद्देश्य लोक कल्याण की गतिविधियों को अंजाम देना है.

    उन्होंने कहा कि पिछले साल राजनीति में शामिल नहीं होने की उनकी घोषणा के बाद मंदरम को लेकर स्थिति स्पष्ट करना उनका दायित्व था, जिसका गठन राजनीतिक पार्टी के गठन के लिये जमीन तैयार करने वाले संगठन के तौर पर किया गया था.

    गैर राजनीतिक कल्याणकारी निकाय ‘फैंस फोरम’ को आरएमएम में बदल दिया गया था और इस नए संगठन की शुरुआत 2018 में हुई थी. इसके लिये राज्य और जिला स्तर पर पदाधिकारियों की नियुक्ति हुई थी जबकि अलग-अलग इकाइयां भी बनाई गई थीं.

    Tags: Rajinikanth, Rajinikanth Politics

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर