लाइव टीवी

रजनीकांत ने दिए बड़े संकेत, बोले-2021 में तमिलनाडु की राजनीति में होगा चमत्कार

News18Hindi
Updated: November 21, 2019, 5:12 PM IST
रजनीकांत ने दिए बड़े संकेत, बोले-2021 में तमिलनाडु की राजनीति में होगा चमत्कार
माना जा रहा है कि 2021 में तमिलनाडु में होने वाले विधानसभा चुनावों में रजनीकांत और कमल हासन हाथ मिला सकते हैं. फोटो. पीटीआई

2021 में तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव (Tamil Nadu Assembly Election 2021) होने वाले हैं. ऐसे में रजनीकांत का ये बयान काफी अहम है. तमिलनाडु की राजनीति में जयललिता और करुणानिधि के जाने के बाद एक खालीपन है. फिल्म से राजनीति में कदम रखने वाले कमल हासन (Kamal Haasan) और रजनीकांत (Rajinikanth) इस खालीपन को भरने का ख्वाब देख रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2019, 5:12 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. तमिलनाडु की राजनीति (Tamil Nadu Politics) में रजनीकांत (Rajinikanth) ने बड़े फेरबदल के संकेत दिए हैं. उन्होंने कहा है कि 2021 में राज्य की राजनीति में बड़ा चमत्कार होगा. 2021 में तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव (Tamil Nadu Assembly Election 2021) होने वाले हैं. ऐसे में रजनीकांत का ये बयान काफी अहम है. तमिलनाडु की राजनीति में जयललिता और करुणानिधि के जाने के बाद एक खालीपन है. फिल्म से राजनीति में कदम रखने वाले कमल हासन (Kamal Haasan) और रजनीकांत (Rajinikanth) इस खालीपन को भरने का ख्वाब देख रहे हैं.

इस समय तमिलनाडु  मेंं  एआईएडीएमके (AIADMK) सत्ता में है, लेकिन अगले चुनाव में वह अपने दम पर कितनी कामयाब होगी, इस पर अभी से संशय है, क्योंकि उसका सबसे बड़ा चेहरा जे जयललिता अब उसके पास नहीं हैं. वहीं डीएमके के पास करुणानिधि नहीं हैं, लेकिन वहां पर फिर भी स्टालिन कमान संभाले हुए हैं. कमल हासन को चुनाव लड़ने के बावजूद कामयाबी नहीं मिली है. वहीं रजनीकांत अभी फिल्मों से अपना मोह छोड़ नहीं पाए हैं, लेकिन राजनीति में पारी खेलने की उनकी मंशा है. इसीलिए पहले कमल हासन ने और अब रजनीकांत ने इस बात के संकेत दिए हैं कि वह दोनों मिलकर अगला चुनाव लड़ सकते हैं.

कमल हासन और रजनीकांत ने हाथ मिलाया तो...
अगर ये दोनों सितारे एक साथ आए तो निश्चित रूप से ये कदम तमिलनाडु की राजनीति के लिए एक बड़ा मोड़ साबित हो सकता है. जब रजनीकांत से पूछा गया कि दोनों में से सीएम कौन बनेगा, तो उन्होंने कहा, जब चुनाव आएंगे तो ये परिस्थितियों पर निर्भर होगा. मैं अभी से इस पर कोई बयान नहीं देना चाहता. मैंने जब अपनी पार्टी बनाई थी, तभी इस बात का ध्यान रखा था कि सभी को अपने-अपने विचार रखने की आजादी हो.



क्या होगा दोनों को फायदा
राजनीतिक विश्लेषकों के अनुसार, अब तक कमल हासन की राजनीति वामपंथ के नजदीक और बीजेपी विरोध पर रही है. वहीं रजनीकांत को बीजेपी के नजदीक माना जाता है. ऐसे में इन दोनों की मंशा दोनों पक्षों के वोट को साथ लाने की है. हालांकि इन्हें कितनी कामयाबी मिलेगी, इस पर संशय है.अन्नाद्रमुक ने कमल हासन, रजनीकांत पर फिर किया कटाक्ष
तमिलनाडु में सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक ने गुरुवार को एक बार फिर अभिनेता रजनीकांत और कमल हासन पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी अलग-अलग विचारधारा को देखते हुए यह ‘बिल्ली और चूहे के एक साथ रहने की तरह होगा.’ अन्नाद्रमुक के मुखपत्र ‘नमातु अम्मा’ में एक आलेख में कहा गया कि रजनीकांत ने घोषणा की थी कि वह आध्यात्मिक राजनीति को आगे बढ़ाएंगे, जबकि हासन वाम समर्थक रुख के लिए जाने जाते हैं. हासन और रजनीकांत ने मंगलवार को राज्य के कल्याण के लिए साथ मिलकर काम करने का संकेत दिया, जिससे राजनीतिक तालमेल की अटकलें लगने लगी हैं.

सबसे पहले, हासन ने सुपरस्टार रजनीकांत की उन टिप्पणियों का मंगलवार को समर्थन किया, जिसमें तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी के शीर्ष पद पर आने पर हैरानी जताई गई. हासन ने कहा कि यह ‘आलोचना नहीं है बल्कि सच्चाई है.’ कमल हासन ने यह भी कहा कि वह तमिलनाडु के कल्याण के लिए रजनीकांत के साथ हाथ मिलाएंगे. रजनीकांत ने भी इसी तरह के विचार जताए. अन्नाद्रमुक के कई नेताओं ने साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताने के लिए उनकी आलोचना की. मत्स्य मामलों के मंत्री डी जयकुमार ने इसे ‘मृग मरीचिका’ और ‘भ्रम’ बताया.

मुखपत्र में गुरुवार के आलेख में खासकर हासन को निशाना बनाते हुए कहा गया कि फिल्म जगत में प्रतिद्वंद्विता में वह रजनीकांत से हार गए और उन्हें डर लगता है कि राजनीति में भी ऐसा होगा. आलेख में कहा गया, ‘आध्यात्मिक राजनीति करने का इरादा रखने वाले रजनीकांत तर्कवाद और साम्यवाद की बातें करने वाले कमल हासन से हाथ मिला रहे हैं. यह ऐसा ही होगा कि बिल्ली और चूहा एक साथ रहें.’ इसमें कहा गया, ‘समय आने पर रजनीकांत को सीख मिल जाएगी कि हासन के साथ संभावित भागीदारी सार्थक नहीं होने वाली.’

ये भी पढ़ें : महाराष्ट्र में सरकार गठन के फॉर्मूले पर लगी फाइनल मुहर, तीनों पार्टियों ने किया CMP पर हस्ताक्षर!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 4:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर