अपना शहर चुनें

States

रजनीकांत की पार्टी का नाम और चुनाव चिन्ह तय! कमल हासन बोले-हमारे गठबंधन में एक कॉल की दूरी

रजनीकांत 31 दिसंबर को अपनी नई राजनीतिक पार्टी की घोषणा करेंगे. (File Photo)
रजनीकांत 31 दिसंबर को अपनी नई राजनीतिक पार्टी की घोषणा करेंगे. (File Photo)

Tamilnadu Assembly Elections: अधिकारी के अनुसार, एक अलग नाम की पार्टी 2018 में पंजीकृत की गई थी और कुछ महीने पहले इसका नाम बदलकर मक्कल सेवई काची कर दिया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 15, 2020, 8:31 PM IST
  • Share this:
(बी सिवाकुमार)

चेन्नई. सिनेमा से राजनीति में आने की घोषणा करने वाले दक्षिण भारतीय फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत (Superstar Rajinikanth) की पार्टी के नाम पर फिलहाल संदेह बरकरार है. लेकिन इस बीच तमिलनाडु विधानसभा चुनावों (Tamilnadu Assembly Elections) के लिए चुनाव आयोग (Election Commision) की सूची ने संकेत दिया है कि सुपरस्टार के राजनीतिक संगठन को 'मक्कल सेवई काची' (Makkal Sevai Katchi) कहा जा सकता है. कुछ दिनों पहले, चुनाव आयोग ने अप्रैल-मई 2021 में होने वाले चुनावों के लिए आवंटित किए गए प्रतीकों के साथ पंजीकृत नई पार्टियों के नाम जारी किए थे. उस समय, रजनी मक्कल मंडलम के तूतीकोरिन सचिव एंथोनी स्टालिन ने 'मक्कल सेवई काची' के नाम का पंजीकरण किया था.

स्टालिन ने अपना चेन्नई का पता नंबर 10, बालाजी नगर, अर्नावूर, चेन्नई 600057 बताया है. उन्होंने 'रजनीकांत' नाम का भी उल्लेख किया है और अनुरोध किया है कि 'बाबा' के हस्ताक्षर पार्टी के प्रतीक के रूप में दिए जाएं. 3 दिसंबर को रजनीकांत ने इस बात की पुष्टि करते हुए सस्पेंस तोड़ दिया कि वह एक नई पार्टी लॉन्च करेंगे और यह सभी 234 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. लेकिन अभिनेता ने अपने समर्थकों और अन्य लोगों को 31 दिसंबर तक सस्पेंस रखने के लिए कहा था, इस दिन उन्होंने अपनी पार्टी का नाम जारी करने का आश्वासन दिया था.



ये भी पढ़ें- रेलवे ने किया बड़ा खुलासा! किसान आंदोलन के चलते अब तक 20 लाख मुसाफिरों की छूटी ट्रेन
पार्टी को मिला ये चुनाव चिन्ह
"स्टालिन द्वारा 'मक्कल सेवई काची' नाम के साथ आवेदन पंजीकृत किया गया है और उन्होंने दो प्रतीकों का सुझाव दिया है. पहला अभिनेता का प्रसिद्ध प्रतीक 'बाबा मुद्रा' है, जिसमें वह मूल रूप से मध्यमा और अनामिका को मोड़े रहते हैं. इसके अलावा दूसरा प्रतीक ऑटो है. चुनाव आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया कि चुनाव आयोग ने पार्टी के लिए ऑटो सिंबल आवंटित कर दिया है.

अधिकारी ने कहा कि "प्रतीकों को केवल प्रतीकों की एक टोकरी से आवंटित किया जाता है और इसके अलावा, चुनाव आयोग किसी भी पार्टी के लिए कोई प्रतीक आवंटित नहीं करेगा. यहां तक ​​कि प्रतीक के साथ, उदाहरण के लिए, अगर यह एक कंघी है, तो यह प्रतीकों की टोकरी में मौजूद होना चाहिए."

अधिकारी के अनुसार, एक अलग नाम की पार्टी 2018 में पंजीकृत की गई थी और कुछ महीने पहले इसका नाम बदलकर मक्कल सेवई काची कर दिया गया था.

ये भी पढ़ें- बेटे ने प्रणब मुखर्जी के संस्मरण का प्रकाशन रोकने को कहा, बेटी ने किया विरोध

31 दिसंबर को बड़ी घोषणा कर सकते हैं रजनीकांत
एक विश्लेषक ने कहा "एआईएडीएमके को भी इसी तरह पंजीकृत किया गया था. हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री एमजी रामचंद्रन एआईएडीएमके के संस्थापक थे. पार्टी का नाम चुनाव आयोग में एमजीआर फैंस एसोसिएशन के एक पदाधिकारी अंकापुत्तुर रामलिंगम द्वारा लागू किया गया था,"

ऐसा कहा जाता है कि पार्टी के विवरण की पुष्टि रजनीकांत खुद 31 दिसंबर को कर सकते हैं. 3 दिसंबर को घोषणा के तुरंत बाद, अभिनेता ने अपने करीबी लोगों के साथ मुलाकात की और मंदरम के जिला सचिवों के साथ चर्चा भी की. वर्तमान में, अभिनेता सन पिक्चर्स के बैनर तले बन रही फिल्म 'अन्नथा' के लिए हैदराबाद में है.

इस बीच, अभिनेता से नेता बने कमल हासन ने कहा है कि वह रजनीकांत के साथ हाथ मिलाने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा, "यह लोगों के कल्याण के लिए है. यहां कोई अहंकार नहीं है. हम प्रतिद्वंद्वी नहीं होंगे."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज