अपनी भूमिका के जरिये मैं देश की सेवा करने के लिए तैयार हूं: राजीव कुमार

कुमार ने ट्वीट कर जानकारी दी, 'नीति आयोग में अपनी भूमिका के जरिये मैं देश की सेवा करने के लिए तैयार हूं.' कुमार को कल आयोग का उपाध्यक्ष नियुक्त किए जाने की घोषणा हुई है.

भाषा
Updated: August 6, 2017, 5:05 PM IST
अपनी भूमिका के जरिये मैं देश की सेवा करने के लिए तैयार हूं: राजीव कुमार
Rajiv Kumar भारत की तरक्की को आगे बढ़ाएगा नीति आयोग: कुमार
भाषा
Updated: August 6, 2017, 5:05 PM IST
प्रसिद्ध अर्थशास्त्री राजीव कुमार ने आज कहा कि वह नीति आयोग के नए उपाध्यक्ष के रूप में देश की सेवा को तैयार हैं. कुमार ने ट्वीट कर जानकारी दी, 'नीति आयोग में अपनी भूमिका के जरिये मैं देश की सेवा करने के लिए तैयार हूं.' कुमार को कल आयोग का उपाध्यक्ष नियुक्त किए जाने की घोषणा हुई है.

पांच दिन पहले आयोग के मौजूदा उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने आयोग से इस्तीफा देने और अध्यापन कार्य के लिए वापस अमेरिका जाने की घोषणा की थी. कुमार के पास आक्सफोर्ड से अर्थशास्त्र में डी. फिल और लखनऊ विश्वविद्यालय से पीएचडी की डिग्री है.

वह सेंटर फॉर पालिसी रिसर्च के वरिष्ठ फेलो हैं. इससे पहले वह उद्योग मंडल फिक्की के महासचिव थे. वह इंडियन काउंसिल फॉर रिसर्च आन इंटरनेशनल इकनॉमिक रिलेशंस (इक्रियर) के निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी भी रह चुके हैं.

वह 2006 से 2008 तक राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बोर्ड के सदस्य रहे थे. वह भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के मुख्य अर्थशास्त्री भी रह चुके हैं और एशियाई विकास बैक, उद्योग और वित्त मंत्रालय में वरिष्ठ पदों पर रहे हैं. कुमार कई अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय संस्थानों के बोर्ड में भी रह चुके हैं. इनमें किंग अब्दुल्ला पेट्रोलियम स्टडीज एंड रिसर्च सेंटर, रियाद, इकनामिक रिसर्च इंस्टिट्यूट फार आसियान एंड एशिया, जकार्ता, भारतीय स्टेट बैंक और भारतीय विदेश व्यापार संस्थान शामिल हैं.

नीति आयोग के मौजूदा उपाध्यक्ष पनगढ़िया ने एक अगस्त को यह घोषणा की थी, कि वह 31 अगस्त को नीति आयोग को अलविदा कह कर कोलंबिया विश्वविद्यालय में अध्यापन में वापस लौटेंगे. पनगढ़िया जनवरी, 2015 में नीति आयोग से जुड़े थे. उद्योग मंडल फिक्की ने नीति आयोग में कुमार की नियुक्ति का स्वागत करते हुए कहा है कि सरकार ने तेजी से कदम उठाते हुए यह नियुक्ति की है जिससे आयोग के कामकाज में निरंतरता बना रहे है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 6, 2017, 5:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...