लाइव टीवी

राजीव कुमार का CBI टीम नहीं लगा पाई सुराग, खाली हाथ दिल्ली लौटी

भाषा
Updated: September 27, 2019, 4:47 PM IST
राजीव कुमार का CBI टीम नहीं लगा पाई सुराग, खाली हाथ दिल्ली लौटी
प्रतीकात्मक फोटो.

सारदा चिटफंड घोटाले (Sarada Chitfund Scam) के सिलसिले में पूछताछ के लिए विशेष सीबीआई टीम (Special CBI team ) पिछले सप्ताह कोलाकाता गई थी. पूर्व पुलिस आयुक्त कुमार की का पता ना लगा पाने के बाद टीम वापस दिल्ली लौट आई है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 27, 2019, 4:47 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पूर्व पुलिस आयुक्त राजीव कुमार का पता लगाने के लिए कोलकाता गई केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) की 10 सदस्यीय टीम नई दिल्ली स्थित अपने मुख्यालय लौट आई है. क्योंकि राजीव कुमार का वहां कोई पता नहीं चला हैं.

करोड़ों रुपये के सारदा चिटफंड घोटाले (Sarada Chitfund Scam) के सिलसिले में दिये गये समन की अनदेखी कर रहे कुमार की तलाश में विशेष टीम ने पिछले एक सप्ताह में कोलाकाता में कई स्थानों पर छापेमारी कर रही थी, लेकिन कुमार का कोई पता नहीं चला. सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, "कुछ दिन पहले कोलकाता आई टीम कल यहां से लौट गई है."

जमानत के लिए हाईकोर्ट जा चुके हैं राजीव
बता दें कि कुमार ने पिछले सप्ताह कलकत्ता उच्च न्यायालय का रुख किया था जो इस समय उनकी अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई कर रहा है. सारदा समूह की कंपनियों ने लाखों लोगों के साथ कथित तौर पर 2500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की थी. सारदा चिटफंड मामले में महत्वपूर्ण सबूत के साथ छेड़छाड़ के आरोपी वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी ने पिछले दो सप्ताह में अग्रिम जमानत पाने के लिए कई अदालतों का रुख किया, लेकिन उन्हें कोई राहत नहीं मिली.

राजीव कुमार से पूछताछ करने कोलकाता पहुंची थी टीम
बता दें कि सारदा घोटाले (saradha scam) की जांच के सिलसिले में सीबीआई (CBI) की टीम सोमवार को राज्य सचिवालय पहुंची थी. वहां उन्होंने इस मामले की जांच में पूर्व पुलिस आयुक्त राजीव कुमार (Rajeev kumar) के एजेंसी के समक्ष पेश नहीं होने के संबंध में मुख्य सचिव और गृह सचिव को पत्र सौंपा था.

सीबीआई ने पूछा था राजीव अवकाश से कब लौटेंगेसीबीआई ने जानना चाहा था कि उक्त पुलिस अधिकारी कहां हैं. साथ ही यह भी जानना चाहा था कि उन्हें किस आधार पर महीनेभर लंबा अवकाश दिया गया है. एजेंसी ने यह भी जानना चाहा था कि कुमार ड्यूटी पर कब लौटने वाले हैं. इन पत्रों के साथ कलकत्ता उच्च न्यायालय का वह आदेश भी जोड़ा गया था जो कुमार को गिरफ्तारी से दिए गए संरक्षण को वापस लेने से जुड़ा है. सीबीआई ने कुमार को एक नोटिस दिया था, जिसमें उनसे अगले ही दिन एजेंसी के सामने पेश होने को कहा था. कुमार वर्तमान में आपराधिक जांच विभाग में पुलिस महानिदेशक हैं.

 ये भी पढ़ें- कैंसर रोगियों की विग के लिए महिला पुलिस अफसर ने दान कर दिए अपने बाल

 

छोटे कारोबारियों के लिए बड़ी खुशखबरी! जल्द बिना डॉक्युमेंट के मिलेगा 1 करोड़ तक का लोन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 27, 2019, 4:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर