अपना शहर चुनें

States

गुजरात: राजकोट के कोरोना अस्पताल में लगी आग, 5 मरीजों की मौत

तस्वीर- News18
तस्वीर- News18

Rajkit Hospital Fire: डीसीपी मनोज सिंह जडेजा के मुताबिक उदय शिवानंद कोविड अस्पताल में कुल 33 मरीजों का इलाज चल रहा था. आग आईसीयू में शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी थी, जिसकी वजह से आईसीयू में भर्ती 11 में से 5 मरीजों की मौत हो गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2020, 11:27 PM IST
  • Share this:
राजकोट. गुजरात के राजकोट (Rajkot) स्थित एक कोविड फैसेलिटी हॉस्पिटल में शुक्रवार को आग लग गई, जिसमें 5 कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की मौत हो गई. मिली जानकारी के अनुसार राजकोट स्थित उदय शिवानंद अस्पताल में आग लगी, जहां कोरोना के 33 मरीज भर्ती थे. शुरुआती जानकारी के अनुसार माना जा रहा है कि अस्पताल में शॉर्ट सर्किट से आग लगी.

आग अस्पताल के आईसीयू यूनिट में लगी, जहां 11 मरीज भर्ती थे जिसमें से पांच की मौत हो गई है. म्युनिसिपल कमिश्नर उदित अग्रवाल के मुताबिक मामलें की जानकारी मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को दी गयी है और उन्होंने जांच के आदेश दिए हैं. बता दें बीते महीनों में अहमदबाद, जामनगर, वडोदरा और सूरत के भी अस्पतालों में आग लगने की घटनाएं हो चुकी हैं.

डीसीपी मनोज सिंह जडेजा के मुताबिक उदय शिवानंद कोविड अस्पताल में कुल 33 मरीजों का इलाज चल रहा था. 33 रोगियों में से 11 आईसीयू में भर्ती थे. आग आईसीयू में शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी थी. जिसकी वजह से आग से आईसीयू में इलाज कर रहे 11 में से 5 मरीजों की मौत हो गई है.



जानकारी दी गई कि अस्पताल के दूसरे तल्ले पर इलाज कर रहे दो मरीजों के साथ-साथ आईसीयू से बचाए गए छह अन्य लोगों को इलाज के लिए कुवाडवा रोड स्थित गोकुल अस्पताल में भर्ती कराया गया है.
शॉर्ट सर्किट के कारण आईसीयू में आग लग गई-  नगर आयुक्त
घटना की सूचना मिलते ही नगर आयुक्त उदित अग्रवाल, पुलिस आयुक्त मनोज अग्रवाल, डिप्टी कलेक्टर चरण सिंह गोहिल, आपदा प्रबंधन अधिकारी प्रियांक सिंह, राजकोट शहर के महापौर बीनाबेन आचार्य, राजकोट शहर के भाजपा अध्यक्ष कमलेश मिरानी, राजकोट में विपक्ष के नेता वशराम सगथिया और अन्य नेता उदय शिवन अस्पताल पहुंचे.

नगर आयुक्त उदित अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने उनसे घटना के बाद टेलीफोन पर बातचीत की. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी द्वारा भी जांच का आदेश दिए गए हैं. इस घटना के लिए जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. उदय शिवानंद कोविद अस्पताल के एक चिकित्सक डॉ. तेजस करमाता ने कहा, 'पिछले सितंबर में हमारे अस्पताल को कोविड केयर शुरू करने की अनुमति दी गई थी. पूरी आगजनी की घटना सीसीटीवी पर कैद हो गई है. शॉर्ट सर्किट के कारण आईसीयू में आग लग गई.

वहीं राजकोट के विपक्ष के नेता वशराम सगथिया ने कहा कि अस्पताल में सभी अग्नि सुरक्षा उपकरण थे, लेकिन आग के समय उनका इस्तेमाल नहीं हो पाया. जिससे इतनी तबाही हुई. राजकोट शहर के मेयर बिनाबेन आचार्य भी घटना की जानकारी पर उदय शिवानंद अस्पताल पहुंचीं. मीडिया से बातचीत में बिनबेन आचार्य ने कहा कि अस्पताल में आग लगी है और सभी उपकरणों के बावजूद दुर्घटना को रोका नहीं जा सका. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया है. सभी मरीजों को कुवाडवा रोड पर गोकुल अस्पताल में ट्रांसफर कर दिया गया है.

पुलिस आयुक्त मनोज अग्रवाल भी घटना की जानकारी पर उदय कोविद अस्पताल पहुंचे. अग्रवाल ने भी आईसीयू का दौरा किया जहां आग लगी थी. आईसीयू का दौरा करने के बाद अग्रवाल ने कहा  कि यह बहुत दुखद है कि इस घटना में रोगियों की मौत हो गई.  मृतकों की पहचान रामसिंहभाई, नितिनभाई बदानी, रसिकलाल अग्रवाल, संजय राठौर और केशु अकबरी के रूप में हुई है. पूरे मामले में एफएसएल टीम की भी मदद ली गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज