लाइव टीवी

राजनाथ ने दी सेना के खास डॉग को सलामी, IED जैसे विस्‍फोटक खोजने में था माहिर

News18Hindi
Updated: September 15, 2019, 5:09 PM IST
राजनाथ ने दी सेना के खास डॉग को सलामी, IED जैसे विस्‍फोटक खोजने में था माहिर
इस डॉग नेे 9 साल तक सेना की सेवा की.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने डॉग डच को याद करते हुए आखिरी सलामी दी है. डच की 11 सितंबर को मौत हो गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 15, 2019, 5:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली: भारतीय सेना (indian Army) की पूर्वी कमांड के डॉग  डच (Dutch) को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने याद करते हुए आखिरी सलामी दी है. डच की 11 सितंबर को मौत हो गई थी. रक्षामंत्री के अलावा भारतीय सेना ने भी उसका एक वीडियो अपने सोशल मीडिया काउंट पर जारी किया किया है. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने उसकी मौत पर दुख व्‍यक्‍त करते हुए श्रद्धांजलि दी.

डच की 11 सितंबर 2019 को मौत हो गई. डच ने 9 साल तक देश की सेवा की. उसने इस दौरान कई बार बड़े विस्‍फोटक खोजकर बड़े हादसे होने से बचाया. भारतीय सेना का डॉग डच का जन्‍म 3 अप्रैल 2010 को मेरठ के आरवीसी सेंटर एंड कॉलेज में हुआ था. ये भारतीय सेना का सबसे अहम डॉग था.


Loading...

डच ने 9 साल तक देश की सेवा की. खासकर आतंक विरोधी अभियान में उसने कमाल की भूमिका निभाई. डच विस्‍फोटक सामग्री को सूंघकर खोजने में विशेषज्ञ था. उसने पूर्वी कमांड के लिए कई अहम ऑपरेशन में अहम भूमिका निभाई.



दिसंबर 2014 में असम के गोलपारा में एक पब्‍लिक बस में 6 किग्रा आईईडी का पता लगाया था और एक बड़ी दुर्घटना होने से बचाया. डच को दो बार ईस्‍टर्न कमांड की ओर से सम्‍मानित किया गया.

इसी तरह नवंबर 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के असम दौरे से पहले अलीपुरद्वार में कामाख्‍या एक्‍सप्रेस के एक कोच में 7 किग्रा आईईडी विस्‍फोटक का पता लगाकर डच ने कई जिंदगियों को बचाया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 15, 2019, 4:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...