पाक-बांग्लादेश सीमा पर 2400 किलोमीटर लेजर बाड़ लगाएगा भारत, गृहमंत्री करेंगे परियोजना का शुभारंभ

बीएसएफ प्रमुख ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ब्रह्मपुत्र के पार धुबरी में पूर्वी सीमा पर हमने 55-60 किलोमीटर के खंड पर तकनीकी समाधान लगाए हैं क्योंकि वहां बाड़ लगाने की संभावना नहीं है.’’

भाषा
Updated: September 7, 2018, 6:27 PM IST
पाक-बांग्लादेश सीमा पर 2400 किलोमीटर लेजर बाड़ लगाएगा भारत, गृहमंत्री करेंगे परियोजना का शुभारंभ
गृहमंत्री राजनाथ सिंह (File Photo)
भाषा
Updated: September 7, 2018, 6:27 PM IST
सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के प्रमुख ने शुक्रवार को कहा कि भारत की सीमाओं पर सुरक्षा की दृष्टि से नाजुक क्षेत्रों पर मुस्तैदी बढ़ाने के लिए लेजर बाड़ और प्रौद्योगिकी आधारित अवरोधक लगाने से संबंधित पहली ‘स्मार्ट बाड़’ प्रायोगिक परियोजना का इस माह गृहमंत्री राजनाथ सिंह द्वारा औपचारिक रुप से शुभारंभ किए जाने की संभावना है.

उन्होंने कहा कि ऐसे उपकरण पाकिस्तान और बांग्लादेश से सटी भारतीय सीमा के 2400 किलोमीटर खंड पर लगाए जाएंगे.

बीएसएफ के महानिदेशक केके शर्मा ने कहा कि बांग्लादेश और उसके सीमा प्रहरी बल बीजीबी के साथ भारत का संबंध फिलहाल बड़ा दोस्ताना हैं और समग्र समेकित सीमा प्रबंधन प्रणाली (सीआईबीएमएस) के तहत बीएसएफ की प्राथमिकता पहले पाकिस्तान सीमा पर इन स्मार्ट उपकरणों को लगाना है.

उन्होंने कहा, ‘‘सीबीआईएम प्रणाली या स्मार्ट बाड़ की पहली प्रायोगिक परियोजना पहले लगा दी गई है और जम्मू में काम कर रही है. गृहमंत्री 17 सितंबर को औपचारिक रुप से इसका शुभारंभ करेंगे, लेकिन यह अंतरिम तारीख है.’’

बीएसएफ प्रमुख ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ब्रह्मपुत्र के पार धुबरी में पूर्वी सीमा पर हमने 55-60 किलोमीटर के खंड पर तकनीकी समाधान लगाए हैं क्योंकि वहां बाड़ लगाने की संभावना नहीं है.’’

उन्होंने कहा कि सीमा प्रहरी बल पूर्वी सीमा पर इस क्षेत्र की चौकसी के लिए नवीनतम उपकरण और प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर रहा है.

ये भी पढ़ें: अपनी धरती को भारत के खिलाफ इस्तेमाल नहीं होने देगा बांग्लादेश
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर