34 सालों में इस फोर्स ने किए 115 एंटी टेरेरिस्ट ऑपरेशन, अब होगी और मजबूत

34 सालों में इस फोर्स ने किए 115 एंटी टेरेरिस्ट ऑपरेशन, अब होगी और मजबूत
प्रतीकात्मक फोटो

2008 में मुंबई हमलों के बाद सरकार ने नेशनल सिक्योरिटी गार्ड के रीजनल हब को देश के अलग अलग हिस्सों में विकसित करने का फैसला लिया था और सरकार की इसी योजना के तहत इन हब को विकसित किया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2018, 4:41 PM IST
  • Share this:
देश की विशिष्ट फोर्स नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएसजी) के रीजनल हब को और मजबूत बनाया जाएगा. रीजनल हब यानि एनएसजी के स्थानीय कमांड सेंटर जो देश के अलग-अलग हिस्सों में मौजूद हैं. फिलहाल एनएसजी मुख्यालय के अलावा देशभर में एनएसजी के पांच रीजनल हब हैं.

यह रीजनल हब चेन्नई, कोलकाता, हैदराबाद, मुंबई और हाल ही में बनाए गए गांधीनगर में हैं. यहां एनएसजी मुख्यालय की तरह ही सारी सुविधा, उपकरण और फोर्स के जवान मौजूद रहते हैं. रीजनल हब को मजबूत बनाने का मकसद है कि अगर हब के आसपास के इलाकों में आतंकी वारदात हो तो तुरंत एनएसजी उन शहरों में पहुंच सके.

इस मौके पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह का कहना था कि बदलते हालात में आतंकवादियों की रणनीति के मुताबिक एनएसजी भी अपने आप को बदल रही है और आतंकवादियों के हौसले पस्त कर रही है.



दरअसल 2008 में मुंबई हमलों के बाद सरकार ने नेशनल सिक्योरिटी गार्ड के रीजनल हब को देश के अलग अलग हिस्सों में विकसित करने का फैसला लिया था और सरकार की इसी योजना के तहत इन हब को विकसित किया गया.



एनएसजी डीजी सुदीप लखटकिया ने न्यूज18 इंडिया से खास बातचीत में इन हब के और ज्यादा बड़ी भूमिका की बात कही. न केवल आतंकवाद विरोधी ऑपरेशन में एनएसजी फोर्स को इस्तेमाल किया जाएगा बल्कि प्रदेश पुलिस को भी यह फोर्स ट्रेनिंग देगी कि आतंकवाद से निपटने के लिए एनएसजी की तरह की प्रदेश की विशेष फोर्स भी विकसित हो. हरियाणा सरकार की कवच फोर्स को एनएसजी की मदद से उसी तर्ज पर विकसित किया गया है.

इसके अलावा इन्ही रीजनल हब की मदद से एनएसजी ने क्लोज्ड प्रोटेक्शन ग्रुप फोर्स का गठन किया है जो अति विशिष्ट श्रेणी के लोगों की सुरक्षा करती है. एनएसजी की ये फोर्स फिलहाल गृहमंत्री और चार प्रदेश के सीएम को सुरक्षा मुहैया करवा रही है. एनएसजी के गठन के 34 सालों में अब तक इस फोर्स ने 115 एंटी टेरेरिस्ट ऑपरेशन चलाए हैं जिसमें 60 आतंकवादियों को मारा गया है. सरकार यह भी मानती है कि एनएसजी रीजनल हब को मजबूत बनाने से इस विशिष्ट फोर्स की कार्यप्रणाली को और धार मिलेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading