Home /News /nation /

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का लद्दाख दौरा टला, लेना था हालातों का जायजा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का लद्दाख दौरा टला, लेना था हालातों का जायजा

चीन के खिलाफ सरहद पर मोर्चा मजबूत करने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भारत-चीन तनाव के ग्राउंड जीरो तक जाने वाले थे.

चीन के खिलाफ सरहद पर मोर्चा मजबूत करने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भारत-चीन तनाव के ग्राउंड जीरो तक जाने वाले थे.

एलएसी (LAC) पर शुक्रवार को होने वाला रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) का लद्दाख (Ladakh) दौरा फिलहाल स्थगित हो गया है. शुक्रवार को रक्षा मंत्री चीनी सेना के साथ सीमा पर जारी गतिरोध के बीच सैन्य तैयारियों का जायजा लेने जाने वाले थे.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. एलएसी (LAC) पर शुक्रवार को होने वाला रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) का लद्दाख (Ladakh) दौरा फिलहाल स्थगित हो गया है. शुक्रवार को रक्षा मंत्री चीनी सेना (Chinese Army) के साथ सीमा पर जारी गतिरोध के बीच सैन्य तैयारियों का जायजा लेने जाने वाले थे. रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) की ओर से कहा गया है कि जल्दी ही राजनाथ सिंह के लद्दाख दौरे की नई तारीख का ऐलान किया जाएगा.

    चीन के खिलाफ सरहद पर मोर्चा मजबूत करने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भारत-चीन तनाव के ग्राउंड जीरो तक जाने वाले थे. राजनाथ सिंह का शुक्रवार यानी कल लेह पहुंचने का कार्यक्रम था. वह पूर्वी लद्दाख में चीन से बने तनाव की स्थिति पर सुरक्षा हालातों की समीक्षा करते. इसके साथ ही राजनाथ सिंह लद्दाख में हुए संघर्ष में घायल हुए जवानों से मिलने अस्पताल भी जाते. रक्षा मंत्री के साथ सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी शुक्रवार को लेह दौरे पर थे. राजनाथ सिंह का दौरा ऐसे समय में हो रहा था, जब भारत ने जमीन से हवा (Surface-to-Air) में मार करने वाली आकाश मिसाइल Air Defense System को एलसी पर तैनात किया है.

    33 फाइटर जेट की खरीद को मंजूरी
    भारत-चीन सीमा पर जारी विवाद के बीच भारत ने रूस से 33 नए फाइटर विमान की खरीद को मंजूरी दे दी है. भारत 12 Su-30MKI और 21 MiG-29 विमान खरीदेगा. साथ ही भारतीय वायुसेना के पास पहले से मौजूद 59 MiG-29 फाइटर जेट को उन्नत बनाया जाएगा. खरीद और अपग्रेडेशन की इस पूरी प्रक्रिया की लागत 18,148 करोड़ रुपये आएगी.

    भारत-चीन सीमा पर गहराता विवाद
    गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच सीमा विवाद गहराता जा रहा है. तीन राउंड में हुई सैन्य अधिकारी स्तर की वार्ता के बावजूद चीन अपनी सेनाएं पीछे खींचने को तैयार नहीं है. भारत की तरफ से अपनी संप्रभुता और सीमाओं की रक्षा को लेकर स्पष्ट संदेश दिया जा चुका है. अपनी सुरक्षा और अखंडता का हवाला देते हुए भारत ने 59 चीनी ऐप्स को भी प्रतिबंधित करने का फैसला किया है जिसके बाद चीन की तरफ तीखी प्रतिक्रिया दी गई है.

    Tags: India china, India China Border Tension, Ladakh, Ladakh Border, Rajnath Singh

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर