Assembly Banner 2021

राजनाथ सिंह को याद आई वो रात, जब जवान बोला- जय हिंद साहब, मैं आईटीबीपी से

लेह के लुकुंग चौकी में पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आईटीबीपी के जवानों के साथ बात की.

लेह के लुकुंग चौकी में पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आईटीबीपी के जवानों के साथ बात की.

आईटीबीपी (ITBP) के जवान से मिलने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) एलएसी (LAC) के करीब फारवर्ड लोकेशन डुंगति में बिताई अपनी रात को याद किया.

  • Share this:
नई दिल्ली. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) अपने दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को जब लद्दाख पहुंचे तो उन्होंने वहां पर सेना और आईटीबीपी (ITBP) के जवानों को संबोधित किया. बातचीत के दौरान आईटीबीपी के जवान से मिलने के बाद उन्होंने एलएसी (LAC) के करीब फारवर्ड लोकेशन डुंगति में बिताई अपनी रात को याद किया. बता दें कि जिस समय उन्होंने डुंगति में रात बिताई थी उस वक्त राजनाथ सिंह गृह मंत्री थे.

बता दें कि लद्दाख दौरे के दौरान आईटीबीपी का एक जवान उनके पास आता है और कहता है, जय हिंद साहब, मैं आईटीबीपी से साहब. इस पर राजनाथ सिंह ने कहा कि अरे वाह, आईटीबीपी के साथ मैं रह चुका हूं, डुंगति में रुका था. इस पर राजनाथ सिंह ने कहा, आप उस समय वहां थे? इस पर जवान बताता है, जी हां साहब. राजनाथ सिंह बताते हैं कि वहां बहुत ठंड थी. उस दिन की ठंड को मैं कभी भूल नहीं सकता.

इसके बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हमें सेना पर नाज है. आप लोगों के अंदर राष्ट्रीय स्वाभिमान की भावना है. यही कारण है कि आप लोग सब कुछ बर्दाश्त कर सकते हैं लेकिन अपने स्वाभिमान पर किसी भी तरह की चोट बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि यही स्वाभिमान है जिसके कारण आप लोग अपनी जान की परवाह किए बगैर अपना सबकुछ देश के लिए न्योछावर करने के लिए तैयार हो जाते हैं.



इसे भी पढ़ें :- रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के सामने पैंगॉन्ग झील के पास पैरा कमांडोज ने किया युद्धाभ्यास
गौरतलब है कि लेह के लुकुंग चौकी में पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि चीन के साथ सैन्य कमांडर स्तर की बातचीत जारी है. बैठक के बाद कई मुद्दों का हल भी निकला है लेकिन बातचीत से पूरे मामले का हल निकलेगा या नहीं इसकी गारंटी नहीं है. हां यहां से मैं इतना यकीन जरूर दिलाना चाहता हूं कि भारत की एक इंच जमीन भी दुनिया की कोई ताकत छू नहीं सकती. उन्होंने कहा कि मैं विश्वास दिला देना चाहता हूं कि भारत की जमीन पर कोई कब्जा नहीं कर सकता.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज