लाइव टीवी

सशस्त्र बलों में 2029-30 तक 75% हो जाएगा स्वदेशी तकनीक का इस्तेमाल: रक्षा मंत्री

News18Hindi
Updated: September 19, 2019, 7:43 PM IST
सशस्त्र बलों में 2029-30 तक 75% हो जाएगा स्वदेशी तकनीक का इस्तेमाल: रक्षा मंत्री
राजनाथ सिंह ने गुरुवार को भारतीय लड़ाकू विमान तेजस में उड़ान भरी (फाइल फोटो)

स्वदेश निर्मित हल्के लड़ाकू विमान (Fighter Plane) तेजस (Tejas) को उड़ाने के बाद केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने गुरुवार को यहां एक कार्यक्रम में कहा कि सशस्त्र बलों (Indian Armed Forces) में 2029- 30 तक 75% स्वदेशी तकनीक (Indigenous India) का इस्तेमाल होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2019, 7:43 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरू. स्वदेश निर्मित हल्के लड़ाकू विमान (Fighter Plane) तेजस (Tejas) को उड़ाने के बाद केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने गुरुवार को यहां एक कार्यक्रम में कहा कि सशस्त्र बलों (Indian Armed Forces) में 2029- 30 तक 75% स्वदेशी तकनीक (Indigenous India) का इस्तेमाल होगा.

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने गुरुवार की सुबह बेंगलुरू में एचएएल हवाई अड्डे (HAL Airport, Bangalore) से तेजस लड़ाकू विमान को उड़ाया. इसके साथ ही राजनाथ सिंह पहले रक्षा मंत्री बन गए हैं जिन्होंने देश में निर्मित हल्के लड़ाकू विमान को उड़ाया है.

वह दिन दूर नहीं जब बनाएंगे 100% स्वदेशी सामान
रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) के उत्पादों की प्रदर्शनी के बाद सिंह ने यहां कहा, ‘‘2029- 30 तक देशी तकनीक का इस्तेमाल करीब 75% हो जाएगा. किसी ने भी नहीं सोचा होगा कि हम इस तरह से देशी प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करेंगे.’’

रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘वह दिन दूर नहीं जब हम अपने देश में ही सौ फीसदी सामान बनाएंगे.’’ डीआरडीओ (DRDO) की प्रदर्शनी में मंत्री ने कहा, ‘‘आज मैंने जो देखा है और मैंने जो सुना है, उस आधार पर मैं कहना चाहता हूं कि पूरे देश को आप पर गर्व है.’’

'धीरे-धीरे बढ़ रही है हमारी निर्यात क्षमता'
रक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि डीआरडीओ (DRDO) न केवल भारत में विश्वसनीय संगठन है बल्कि इसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी मान्यता मिल रही है.
Loading...

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘‘हथियार, गोला-बारूद भारत में ही बनाए जा रहे हैं... हम धीरे-धीरे इस तरह से क्षमता निर्माण कर रहे हैं.’’ राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारी निर्यात क्षमता भी बढ़ रही है.

इससे पहले जब तेजस विमान उड़ाने के लिए जी सूट पहने राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) विमान में पायलट (Pilot) के पीछे वाली सीट पर बैठे. उनके साथ एयर वाइस मार्शल एन तिवारी भी थे. एयर वाइस मार्शल एन तिवारी बेंगलुरू में एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (ADA) के नेशनल फ्लाइट टेस्ट सेंटर में परियोजना निदेशक हैं.

यह भी पढ़ें: PM की अमेरिका यात्रा: Howdy Modi ही नहीं, UN के प्रोग्राम पर भी होंगी दुनिया की नजरें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 19, 2019, 7:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...