• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • विपक्ष के हंगामे से टैक्सपेयर्स के 133 करोड़ रुपए स्वाहा, राज्यसभा में 8 बिल पारित होने से बढ़ा कामकाज

विपक्ष के हंगामे से टैक्सपेयर्स के 133 करोड़ रुपए स्वाहा, राज्यसभा में 8 बिल पारित होने से बढ़ा कामकाज

Parliament Monsoon Session News: संसद की कार्यवाही के दौरान गतिरोध खत्म नहीं हो पा रहा है.

Parliament Monsoon Session News: संसद की कार्यवाही के दौरान गतिरोध खत्म नहीं हो पा रहा है.

Rajya Sabha Opposition Uproar: राज्य सभा के अधिकारी ने बताया कि मॉनसून सत्र के शुरुआती तीन सप्ताह में उच्च सदन की कुल उत्पादकता 22.60 प्रतिशत रही.

  • Share this:

    नई दिल्ली. संसद के मौजूदा मॉनसून सत्र के तीसरे हफ्ते में आठ विधेयकों के पारित होने से सदन की उत्पादकता बढ़कर 24.2 प्रतिशत करने में मदद मिली है. राज्य सभा के अनुंसधान विभाग के आंकड़ों के मुताबिक पिछले हफ्ते (सत्र के दूसरे हफ्ते) उत्पादकता 13.70 प्रतिशत थी, जबकि सत्र के पहले हफ्ते उच्च सदन की उत्पादकता सबसे अधिक 32.20 प्रतिशत रही थी. विपक्षी दलों द्वारा उच्च सदन की कार्यवाही में व्यवधानों की वजह से संभावित 107 घंटों में से 18 घंटे का नुकसान होने के कुछ दिनों बाद यह आंकड़े सामने आए हैं. कार्यवाही के ना चलने से करदाताओं के 133 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है.

    राज्य सभा के अधिकारी ने बताया कि मॉनसून सत्र के शुरुआती तीन सप्ताह में उच्च सदन की कुल उत्पादकता 22.60 प्रतिशत रही. उल्लेखनीय है कि 19 जुलाई को मॉनसून सत्र शुरू होने के बाद से उच्च सदन की कार्यवाही लगातार बाधित हो रही है. विपक्षी सदस्य कथित पेगासस जासूसी कांड और किसानों से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की मांग को लेकर हंगामा कर रहे हैं.

    कोरोना के डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ सुरक्षा, बूस्टर शॉट्स: जानिए कोवोवैक्स वैक्सीन के बारे में सारी बातें

    आंकड़ों के मुताबिक पिछले सप्ताह 17 दलों के 68 सदस्यों ने विधेयकों को पारित करने से पहले चर्चा में हिस्सा लिया. विधेयकों पर हुई चर्चा में अन्नाद्रमुक, आम आदमी पार्टी, बीजू जनता दल (बीजद), भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), कांग्रेस, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा), मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा), द्रमुक, जनता दल यूनाइटेड (जदयू), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा), राष्ट्रीय जनता दल (राजद), आरपीआई, शिवसेना, तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा), टीएमसी(मूपनार), तेलंगाना राष्ट्र समिति(टीआरएस) और वाईएसआर कांग्रेस के सदस्यों ने हिस्सा लिया.

    Inside Story: जेडीयू में नीतीश कुमार के बाद नंबर-2 कौन? दो चेहरों के बीच चर्चा में है एक ‘छुपा रुस्तम’

    नामांकित सदस्यों और इन 17 दलों के कुल सदस्यों की संख्या राज्यसभा के मौजदा संख्याबल का 87 प्रतिशत है. अधिकारियों ने रेखांकित किया कि पेगासस विवाद और किसानों के मुद्दों पर चर्चा की मांग कर रही तृणमूल कांग्रेस और शिरोमणि अकाली दल के सदस्यों की संख्या सदन के संख्याबल के लिहाज से छह प्रतिशत से भी कम है. उन्होंने बताया कि सदन ने तीन घंटे और 25 मिनट इन विधेयकों को पारित करने में लिया.

    पाकिस्तान: मंदिर तोड़फोड़ मामले में 20 लोग अरेस्ट, 150 से अधिक लोगों पर केस दर्ज

    अधिकारियों ने बताया कि इस सप्ताह राज्यसभा की कार्रवाई के लिए निर्धारित कुल 28 घंटे 30 मिनट में एक घंटे 41 मिनट का समय प्रश्नकाल पर व्यय हुआ जिसमें 17 तारांकित सवाल पूछे गए. उन्होंने बताया कि इस हफ्ते हंगामे की वजह से 21 घंटे 36 मिनट का समय बर्बाद हुआ. आंकड़ों के मुताबिक मॉनसून सत्र शुरू होने से अबतक कुल 78 घंटे 30 मिनट के समय में 60 घंटे 28 मिनट हंगामे की वजह से बर्बाद हुए हैं.

    अधिकारियों ने बताया कि गत तीन सप्ताह के दौरान सदन में कुल 17 घंटे 44 मिनट काम हुआ है जिनमें से चार घंटे 49 मिनट सरकारी विधेयकों पर व्यय हुआ, तीन घंटे 19 मिनट प्रश्नकाल में व्यय हुए और चार घंटे 37 मिनट में कोविड-19 संबंधी मुद्दों पर संक्षिप्त चर्चा हुई.

    (इनपुट भाषा से भी)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज