'मुंह मत खुलवाओ, 100 करोड़ की वसूली हो रही थी...' संसद में कांग्रेस के लिए बोले सिंधिया

ज्योतिरादित्य सिंधिया (ANI)

ज्योतिरादित्य सिंधिया (ANI)

ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) आज राज्यसभा में वित्तीय बिल पर अपनी बात रख रहे थे, तभी कांग्रेस के कई सांसद पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर टोका-टिप्पणी करने लगे. ऐसे में सिंधिया भी कहां चुप रहने वाले थे, उन्होंने कांग्रेस सांसद (Congress Member) को पेट्रोल-डीजल के पीछे की गणित भी समझा दिया और मुंह न खुलवाने की हिदायत भी दे डाली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2021, 5:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल होकर राज्यसभा पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने बुधवार को संसद में कांग्रेस पार्टी को जमकर आड़े हाथ लिया. ज्योतिरादित्य सिंधिया वित्त विधेयक पर बोल रहे थे, इस बीच कांग्रेस खेमे से किसी सांसद ने टोका, तो सिंधिया ने कहा- 'मुंह मत खुलवाओ.' फिर सिंधिया ने महाराष्ट्र सरकार के घटक दल कांग्रेस को अनिल देशमुख पर लगे 100 करोड़ रुपये की वसूली कराने के आरोपों की याद दिलाई उन्होंने कहा, 'मुंह मत खुलवाओ, पब और रेस्टोरेंट से 100 करोड़ की वसूली हो रही थी, वो भी गृह मंत्री द्वारा.'

दरअसल, ज्योतिरादित्य सिंधिया आज राज्यसभा में वित्तीय बिल पर अपनी बात रख रहे थे, तभी कांग्रेस के कई सांसद पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर टोका-टिप्पणी करने लगे. ऐसे में सिंधिया भी कहां चुप रहने वाले थे, उन्होंने कांग्रेस सांसद को पेट्रोल-डीजल के पीछे की गणित भी समझा दी और मुंह न खुलवाने की हिदायत भी दे डाली.

महाराष्ट्र में वसूली विवाद: केंद्रीय गृह सचिव से मिल पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने सौंपे 6 जीबी 'सबूत'

बता दें कि मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने गृह मंत्री अनिल देशमुख के ऊपर आरोप लगाया कि फरवरी में उन्होंने क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट के सचिन वाजे और अन्य अधिकारियों तथा सोशल सर्विस ब्रांच के एसीपी संजय पाटिल के साथ मुलाकात की थी. उन्हें 100 करोड़ रुपये की उगाही का निर्देश दिया था. सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अपनी याचिका में भी यह आरोप लगाए हैं और सबूत नष्ट होने से पहले जांच की मांग की है. शीर्ष अदालत ने उनकी याचिका पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया है और हाईकोर्ट में अपील करने को कहा है.
सिंधिया ने और क्या कहा?

ज्योदितारादित्य सिंधिया ने कहा कि यह बात सही है कि पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़े हैं. यह भी सही है कि जो बढ़ोतरी हुई है उसका बंटवारा क्या है. उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर खर्चा निकालने के बाद 40 फीसदी हिस्सा राज्य और 60 फीसदी हिस्सा केंद्र को मिलता है. 60 फीसदी में 42 फीसदी राज्य को जाता है. राज्य को उस राशि का 64 फीसदी मिलता है और 36 फीसदी केंद्र के पास रहता है.

सिंधिया ने कहा कि महाराष्ट्र में पेट्रोल-डीजल के सबसे ज्यादा दाम हैं. यहां आप सरकार को दुहाई दे रहे हैं, लेकिन वहां कोई कदम नहीं उठाते हैं. उन्होंने कहा कि मैं बस इतना ही कहना चाहता हूं कि जिनके घर शीशे के होते हैं, वह दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकते.



परमबीर सिंह की याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, 'लेटर बम' पर महाराष्ट्र में सियासी हलचल जारी

नीतियों को लेकर कांग्रेस ने सरकार को घेरा

राज्यसभा में बुधवार को कांग्रेस ने सरकार की आर्थिक नीतियों की तीखी आलोचना की. कांग्रेस ने कहा कि कोविड महामारी आने के पहले ही देश की अर्थव्यवस्था पटरी से उतर चुकी थी. केंद्र अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए कोरोना की आड़ ले रही है. कांग्रेस के दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने उच्च सदन में वित्त विधेयक, 2021 पर चर्चा की शुरुआत करते हुए आरोप लगाया कि सरकार की गलत नीतियों के कारण अर्थव्यवस्था महामारी के पहले ही खराब दौर से गुजर रही थी लेकिन स्थिति में सुधार के लिए बजट में कोई खास प्रावधान नहीं किया गया. (एजेंसी इनपुट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज