Assembly Banner 2021

दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे किसानों और कैदियों को भी लगे कोरोना वैक्सीन, राकेश टिकैत की मांग

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत. (एएनआई/18 मार्च 2021)

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत. (एएनआई/18 मार्च 2021)

Farm Laws: तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने और एमएसपी के लिए कानूनी गारंटी देने की मांग के साथ हजारों किसान कई दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 9:18 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे लोगों को भी कोरोना वायरस का टीका लगना चाहिए. भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने गुरुवार को दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे किसानों और जेल के कैदियों को भी कोरोना की वैक्सीन लगाने की मांग की. उन्होंने खुद भी वैक्सीन लगवाने की बात कही.


आपको बता दें कि तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने और फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) के लिए कानूनी गारंटी देने की मांग के साथ पंजाब, हरियाणा और देश के विभिन्न हिस्सों से आए हजारों किसान काफी दिनों से से राष्ट्रीय राजधानी की विभिन्न सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं.


कोरोना के नए मामले 35 हजार के पार


भारत में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 35,871 नए मामले दर्ज किए गए जो 100 से अधिक दिनों में एक दिन में संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं. इसके साथ ही संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 1,14,74,605 पर पहुंच गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, लगातार आठवें दिन कोरोना वायरस के मामले बढ़ने से संक्रमितों की संख्या 2,52,364 पर पहुंच गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 2.20 प्रतिशत है. सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार, मरीजों के स्वस्थ होने की दर गिरकर 96.41 प्रतिशत हो गई है. आंकड़ों के अनुसार, 172 और कोविड-19 से लोगों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या बढ़कर 1,59,216 हो गई है.

एक दिन में कोरोना वायरस के 35,871 मामले 102 दिन में संक्रमण के सर्वाधिक मामले हैं. छह दिसंबर को संक्रमण के 36,011 नए मामले सामने आए थे. इस बीमारी से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,10,63,025 हो गई है, जबकि मृतकों की दर 1.39 प्रतिशत है.


Youtube Video

अब तक कोरोना से देश में 1.59 लाख से अधिक की मौत


भारत में कोविड-19 के मामले सात अगस्त को 20 लाख का आंकड़ा पार कर गए थे. इसके बाद संक्रमण के मामले 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार चले गए थे. वैश्विक महामारी के मामले 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ का आंकड़ा पार कर गए थे. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के मुताबिक 17 मार्च तक 23,03,13,163 नमूनों की जांच की जा चुकी है.




अभी तक देश में इस वैश्विक महामारी से 1,59,216 लोगों की मौत हुई है. इनमें से महाराष्ट्र में 53,080, तमिलनाडु में 12,564, कर्नाटक में 12,407, दिल्ली में 10,948, पश्चिम बंगाल में 10,298, उत्तर प्रदेश में 8,751 और आंध्र प्रदेश में 7,186 लोगों की मौत हुई. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि जिन लोगों की मौत हुई उनमें से 70 प्रतिशत से अधिक लोगों को अन्य बीमारियां भी थीं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज