राकेश टिकैत ने सरकार से बातचीत से पहले किसानों के लिए रखी 3 मांगें, कहा- हम वापस नहीं जाएंगे

राकेश टिकैत ने रखी मांगें. (Pic- ANI)

दिल्‍ली के बॉर्डर (Delhi border) पर आंदोलन (Farmer Protest) कर रहे किसानों और सरकार के बीच आज यानी 4 जनवरी को सातवें दौर की बात होने वाली है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार की ओर से लाए गए 3 कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध में पिछले एक महीने से अधिक समय से दिल्‍ली के बॉर्डर (Delhi border) पर आंदोलन (Farmer Protest) कर रहे किसानों और सरकार के बीच आज यानी 4 जनवरी को सातवें दौर की बात होने वाली है. माना जा रहा है कि इस बातचीत में किसानों की समस्‍या का हल हो सकता है. इस बीच सोमवार को सरकार से बातचीत के पहले भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्‍ता राकेश टिकैत ने सरकार के सामने किसानों के लिए तीन मांगें रखी हैं.

    राकेश टिकैत के अनुसार सरकार से होने वाली आज की वार्ता में किसानों का एजेंडा स्‍वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट, तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग और फसलों के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य (MSP) पर कानून बनाने की मांग पर रहेगा. उन्‍होंने यह भी कहा है कि अब तक आंदोलन के दौरान 60 किसान अपनी जान गंवा चुके हैं. हर 16 घंटे में एक किसान मर रहा है. इसकी जवाबदेही की जिम्‍मेदारी सरकार की है.







    बता दें कि किसानों ने सरकार से सातवें दौर की बातचीत से पहले साफतौर पर चेतावनी दी है कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो वे आंदोलन को और तेज कर देंगे. किसान नेताओं की ओर ये कहा गया है किसान 13 जनवरी को कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर लोहड़ी मनाएंगे. इसके साथ ही 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जन्‍मतिथि के दिन किसान दिवस मनाएंगे.

    किसानों के साथ बैठक से पहले रविवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की. सूत्रों के अनुसार तोमर और राजनाथ की बैठक में वर्तमान संकट के यथाशीघ्र समाधान के लिए सरकार की रणनीति पर चर्चा की. तोमर ने सिंह के साथ इस संकट के समाधान के लिए ‘बीच का रास्ता’ ढूंढने के लिए ‘‘सभी संभावित विकल्पों’’ पर चर्चा की.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.