Assembly Banner 2021

नंदीग्राम में राकेश टिकैत की बीजेपी को हराने की अपील, कहा- किसी को भी वोट दें लेकिन...

नंदीग्राम पहुंचे किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि भाजपा सरकार एक ठगी सरकार है.

नंदीग्राम पहुंचे किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि भाजपा सरकार एक ठगी सरकार है.

West Bengal Assembly Elections: राकेश टिकैत ने आरोप लगाया कि केंद्र में बीजेपी की अगुवाई वाली सरकार किसानों और उनके आंदोलन की रीढ़ तोड़ने पर आमादा है. उन्होंने कहा कि यह जन-विरोधी सरकार है.

  • Share this:
कोलकाता/नंदीग्राम. संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किसानों ने शनिवार को कोलकाता और नंदीग्राम में महापंचायतों का आयोजन किया और लोगों से पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी को वोट नहीं देने का आग्रह किया. भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा कि हम यहा किसानों से अपील करने आए है कि वो बीजेपी को वोट नहीं दे.

शनिवार को राकेश टिकैत ने कोलकाता और पूर्वी मेदिनीपुर जिले के नंदीग्राम में सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर के साथ किसानों को संबोधित किया. राकेश टिकैत ने कहा कि किसी को भी वोट दे लेकिन बीजेपी को वोट मत दें. हम तो बीजेपी को वोट देकर देख चुके हैं. बंगाल की जनता समझदार है. जनता को पता है किसको वोट देना है. टिकैत ने आरोप लगाया कि केंद्र में बीजेपी की अगुवाई वाली सरकार किसानों और उनके आंदोलन की रीढ़ तोड़ने पर आमादा है. उन्होंने कहा कि यह जन-विरोधी सरकार है.

बीजेपी को बताया धोखेबाजों की पार्टी
उन्होंने कहा, 'बीजेपी को वोट मत देना. अगर उन्हें वोट दिया गया तो वे आपकी जमीन बड़े कॉर्पोरेट्स और उद्योगों को दे देंगे और आपको भूमिहीन बना देंगे. वे आपकी आजीविका दांव पर लगाकर देश के बड़े उद्योगपति समूहों को जमीन सौंप देंगे और आपको खतरे में डाल देंगे.'





ये भी पढ़ेंः- COVID-19: पुणे से लेकर औरंगाबाद तक महाराष्ट्र के कई शहरों में लगाई गई पाबंदियां- 10 खास बातें

टिकैत ने बीजेपी को धोखेबाजों की पार्टी कहते हुए कहा, हम बीजेपी का विरोध करने वालों और किसानों तथा गरीबों के साथ खड़े होने वालों के पाले में रहेंगे. उन्होंने कहा कि अगर कोई वोट मांगने आए तो उनसे पूछना कि हमारा MSP कब मिलेगा, धान की कीमत 1850 हो गई है वो कब मिलेगी?

मैं किसी पार्टी विशेष को समर्थन देने नहीं आयाः टिकैत
उन्होंने स्पष्ट किया कि बंगाल में किसान महापंचायत का मतलब राज्य में किसी विशेष गैर-बीजेपी पार्टी को समर्थन देना नहीं है. उन्होंने कहा, मैं यहां किसी विशेष पार्टी के लिए वोट मांगने के लिए नहीं आया हूं. हम यहां बंगाल में किसानों की ओर से बीजेपी के खिलाफ लड़ाई शुरू करने के लिए अपील कर रहे हैं. नंदीग्राम की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि किसानों के आंदोलन की यह भूमि केन्द्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन को एक नई दिशा देगी.

दिल्ली की सीमाओं पर जारी आंदोलन पर उन्होंने कहा कि आंदोलनकारी लंबे समय तक अपना आंदोलन जारी रखने के लिए तैयार हैं क्योंकि उनका उनका मनोबल ऊंचा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज