बंगाल में सिख सुरक्षाकर्मी की पगड़ी खींचे जाने का मुद्दा गरमाया, कोलकाता में कई जगहों पर प्रदर्शन

फोटो साभारः ट्विटर
फोटो साभारः ट्विटर

Sikh Man Whose Turban Fell Off During Clash with Cops: प्रदर्शनकारियों ने एस्प्लेनेड क्रसिंग के निकट सेंट्रल एवेन्यू में नारेबाजी करते हुए कहा, ''मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बताएं कि आपकी पुलिस ने सिख व्यक्ति की पगड़ी क्यों खींची? आप वजह बताएं या फिर मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ दें.''

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2020, 3:51 PM IST
  • Share this:

कोलकाता. पश्चिम बंगाल (WEST BENGAL) के हावड़ा में बीजेपी (BJP) की एक रैली के दौरान एक सुरक्षाकर्मी पर पुलिस द्वारा कथित रूप से हमला किए जाने और उसकी पगड़ी खींचे जाने पर विवाद खड़ा हो गया है. सिख समुदाय के लोगों के कोलकाता में कई जगहों पर इसके विरोध में रैली निकाली. प्रदर्शनकारियों ने 8 अक्टूबर को 43 वर्षीय सिख व्यक्ति बलविंदर सिंह के साथ हुई उस घटना को लेकर शुक्रवार रात रैली निकाली और बंगाली में नारेबाजी करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से स्पष्टीकरण मांगा.


पुलिस को आठ अक्टूबर को बीजेपी के मार्च के दौरान सिंह के पास से गोलियों से भरी हुई पिस्तौल मिली थी. प्रदर्शनकारियों ने एस्प्लेनेड क्रसिंग के निकट सेंट्रल एवेन्यू में नारेबाजी करते हुए कहा, ''मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बताएं कि आपकी पुलिस ने सिख व्यक्ति की पगड़ी क्यों खींची? आप वजह बताएं या फिर मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ दें.''

हरभजन सिंह ने की कार्रवाई की मांग
बंगाल में सिख सुरक्षाकर्मी (Sikh security) की पिटाई और फिर उसकी पगड़ी उतारे जाने पर पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह (Harbhajan singh) ने आपत्ति जताई है. हरभजन सिंह ने इस मामले में कार्रवाई की मांग की है. हरभजन सिंह ने बीजेपी नेता इंप्रीत सिंह बक्शी का एक वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है. इस वीडियो को शेयर करते हुए हरभजन ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata banerjee) से मामले में कार्रवाई की मांग की है.
क्या है पूरा मामला?
बता दें कि बीजेपी नेता मनीष शुक्ला की हत्या के विरोध में बीजेपी ने गुरुवार को राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर सचिवालय 'नाबन्ना' के बाहर प्रदर्शन किया था. बीजेपी कार्यकर्ता जब सचिवालय के गेट के अंदर जाने की कोशिश करने लगे तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया और आंसू गैस के गोले छोड़े. इस दौराना वहां मौजूद कई बीजेपी कार्यकर्ताओं को हिरासत में भी ले लिया गया. इस घटना के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज