• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • राम जेठमलानी ने इंदिरा-राजीव के हत्यारों से लेकर अंडरवर्ल्ड डॉन हाजी मस्तान तक का लड़ा केस

राम जेठमलानी ने इंदिरा-राजीव के हत्यारों से लेकर अंडरवर्ल्ड डॉन हाजी मस्तान तक का लड़ा केस

राम जेठमलानी ने इंदिरा-राजीव के हत्यारों से लेकर अंडरवर्ल्ड डॉन हाजी मस्तान तक का लड़ा केस.

राम जेठमलानी ने इंदिरा-राजीव के हत्यारों से लेकर अंडरवर्ल्ड डॉन हाजी मस्तान तक का लड़ा केस.

राम जेठमलानी (Ram Jethmalani) ने 17 साल की उम्र में ही वकालत की डिग्री हासिल कर ली थी. उन दिनों प्रैक्टिस करने की न्यूनतम उम्र 21 साल रखी गई थी, लेकिन जेठमलानी की काबिलियत को देखते हुए इस उम्रसीमा में छूट दी गई. पीएम मोदी (PM Modi) उनके निधन पर शोक जताते हुए कहा कि वह आज भले ही यहां न हों, लेकिन उनके किए गए काम हमेशा रहेंगे.'

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    वरिष्ठ अधिवक्ता राम जेठमलानी (Ram Jethmalani) का 95 साल की उम्र में रविवार सुबह दिल्ली स्थित उनके आवास पर निधन हो गया. जेठमलानी काफी समय से बीमार चल रहे थे. उनका लगातार इलाज चल रहा था. उनका जन्म सिंध प्रांत के सिखारपुर में 14 सितंबर 1923 को हुआ था. बंटवारे के बाद उनका परिवार भारत आ गया था. अपने राजनीतिक जीवन में वो कई पार्टियों में रहे. वो भाजपा और राजद की ओर से राज्यसभा सांसद भी रह चुके हैं.

    उन्होंने 17 साल की उम्र में वकालत की डिग्री हासिल की थी. यहां तक कि उनके वकील बनने के लिए वकील बनने की उम्र में संशोधन किया गया था. उन दिनों प्रैक्टिस करने की न्यूनतम उम्र 21 साल रखी गई थी, लेकिन जेठमलानी की काबिलियत को देखते हुए इस उम्रसीमा में छूट दी गई थी. उनकी गिनती देश के नामचीन क्रिमिनल वकीलों में की जाती थी. जेठमलानी द्वारा लड़े गए मुकदमों के अलावा अपने बयानों की वजह से भी अक्सर चर्चा में रहते थे. आइए पढ़ें वो मामले, जिनकी वजह से जेठमलानी की खूब चर्चा हुई.

    नानावटी बनाम महाराष्ट्र सरकार
    केएम नानावटी बनाम महाराष्ट्र, केस बेहद चर्चित मामला है. नानावटी नेवी अफसर थे, जिन्होंने अपनी पत्नी के प्रेमी को गोली मार दी थी. उन्होंने खुद सरेंडर कर अपना अपराध भी स्वीकार कर लिया था. वो तीन साल जेल में रहे. जेठमलानी ने उनका केस लड़ा और उन्हें रिहा करा लिया था.

    हाजी मस्तान केस
    हाजी मस्तान मुंबई अंडरवर्ल्ड का डॉन था. उसके ऊपर तस्करी के मामले थे. तस्करी के एक मामले में उसे बचाने के लिए राम जेठमलानी ने केस लड़ा था.



    हवाला स्कैम
    हवाला स्कैम में कई बड़े नेताओं और ब्यूरोक्रेट्स पर पैसे लेने का आरोप लगा था. भाजपा नेता लाल कृष्ण आडवाणी पर भी आरोप लगा था. तब उन्होंने लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. जेठमलानी ने आडवाणी की ओर से उनका केस लड़ा था.

     राजीव गांधी के हत्यारों का मामला
    मद्रास हाईकोर्ट में राजीव गांधी के हत्यारों का चर्चित मामला चला था. आरोपियों की ओर से वकील के तौर पर पैरवी करते हुए जेठमलानी ने फांसी की सजा को उम्रक़ैद में तब्दील कराया.

    अफजल गुरु
    संसद पर हमले के आरोपी कश्मीरी आतंकी अफजल गुरु के मामले में भी जेठमलानी ने पैरवी की थी. दरअसल, अफजल को अदालत ने फांसी की सजा दी थी जिसके खिलाफ जेठमलानी ने केस लड़ा. लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिली.

     जेसिका लाल मर्डर केस
    हाई प्रोफाइल जेसिका लाल मर्डर केस की वजह से भी जेठमलानी की चर्चा हुई थी.. बता दें कि उन्होंने हत्या के आरोपी आरोपी मनु शर्मा का वकील की हैसियत से अदालत में बचाव किया था.

    2जी स्कैम केस
    संप्रग 2 के कार्यकाल में उजागर हुआ 2जी स्कैम चर्चित घोटाला है. जेठमलानी ने आरोपी और डीएमके नेता करूणानिधि की बेटी कनिमोझी के बचाव में पैरवी की.

    आसाराम बापू मामला
    यौन उत्पीड़न के अलग-अलग मामलों में आसाराम बापू जेल में बंद है. बता दें कि उनके बचाव में जेठमलानी केस लड़ रहे थे.

    ये भी पढ़ें- ISRO चीफ का ऐसा रहा सफर, कॉलेज में आकर पहली बार पहने थे सैंडल, करते थे खेती

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज