अपना शहर चुनें

States

राम मंदिर के लिए दान लेने वालों पर भड़के कुमारस्वामी, बोले-धमकी देकर जमा किया जा रहा पैसा

कर्नाटक के पूर्व मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी ने राम मंदिर के लिए जमा किए जा रहे चंदे को लेकर सवाल उठाए हैं  (फाइल फोटो)
कर्नाटक के पूर्व मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी ने राम मंदिर के लिए जमा किए जा रहे चंदे को लेकर सवाल उठाए हैं (फाइल फोटो)

Ram Mandir Donation: कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (Karnataka's Former CM HD Kumaraswamy) ने अयोध्या के राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir) के लिए इकट्ठा किए जा रहे रुपये की पारदर्शिता को लेकर भी सवाल खड़े किए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 17, 2021, 4:24 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (Karnataka's Former CM HD Kumaraswamy) ने अयोध्या के राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir) के लिए इकट्ठा किए जा रहे चंदे को लेकर दिए गए अपने बयान पर स्पष्टीकरण दिया है. कुमारस्वामी ने इकट्ठा किए जा रहे रुपये की पारदर्शिता को लेकर भी सवाल खड़े किए हैं. कुमारस्वामी ने कहा, "मैं मंदिर के लिए दान देने को लेकर चिंतित नहीं हूं, अगर जरूरत पड़ी तो मैं भी इसमें सहयोग दूंगा. लेकिन इस संबंध में जानकारी कौन दे रहा है? पैसे जमा करने को लेकर पारदर्शिता कहां है? कई लोग दूसरों को धमकी देकर पैसे जमाकर रहे हैं."

कुमारस्वामी ने कहा, "मैं भी इसका शिकार रहा हूं, एक महिला समेत तीन लोग मेरे घर आए थे. उन्होंने मुझे धमकी दी कि मैं चंदा क्यों नहीं दे रहा हूं, यह देश का मुख्य मुद्दा है कि- तुम चंदा क्यों नहीं दे रहे हो? वह कौन थी? क्या उसे आकर मुझसे पूछताछ करने के लिए अधिकृत किया गया है?"

बता दें इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री ने सोमवार को आरएसएस पर आरोप लगाया था कि वह अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की खातिर चंदा देने वाले लोगों के घर पर निशान लगा रहा है और आरोप लगाया कि यह वैसा ही है जैसा नाजियों ने जर्मनी में किया था.



हालांकि आरएसएस ने आरोपों से इनकार करते हुए कहा था कि इनका जवाब देना भी उचित नहीं है.
ये भी पढ़ें- बंगाल की सियासत में क्या है फुरफुरा शरीफ की ताकत, जो हर नेता लगा रहा चक्कर

कुमारस्वामी ने आरएसएस पर लगाए थे आरोप
सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए जद (एस) के नेता ने दावा किया कि जिस समय जर्मनी में नाजी पार्टी की स्थापना हुई थी उसी समय भारत में आरएसएस का जन्म हुआ था. कुमारस्वामी ने ट्वीट किया, ‘‘लगता है कि राम मंदिर का निर्माण करने के लिए चंदा जुटाने वाले लोग धन देने वाले और नहीं देने वाले लोगों के घरों पर अलग-अलग निशान लगा रहे हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह उसी तरह है जैसा जर्मनी में नाजियों ने हिटलर के समय में किया था जब लाखों लोगों को अपनी जिंदगी गंवानी पड़ी थी.’’ उन्होंने पूछा कि ऐसी बातों से देश कहां जाएगा.

इतिहासकारों को उद्धृत करते हुए कुमारस्वामी ने दावा किया कि आरएसएस का जन्म उसी समय हुआ जब जर्मनी में नाजी पार्टी की स्थापना हुई. पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाए, ‘‘इस तरह की चिंताएं हैं कि अगर आरएसएस नाजियों की तरह ही नीतियां लागू करेगा तो क्या होगा. देश में अब लोगों के मूलभूत अधिकार छीने जा रहे हैं.’’ उन्होंने दावा किया कि देश में अघोषित आपातकाल है क्योंकि लोग खुलकर अपने विचार व्यक्त नहीं कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- शबनम को फांसी के साथ ही पवन जल्लाद बनाएंगे ये रिकॉर्ड, बोले- वो हैं तैयार

आगामी दिनों में मीडिया की स्वतंत्रता पर आशंका जताते हुए जद (एस) के नेता ने कहा कि क्या होगा अगर मीडिया सरकार के विचारों को व्यक्त करेगा.

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘वर्तमान रुख से पता चलता है कि देश में कुछ भी हो सकता है.’’

इस बारे में पूछे जाने पर आरएसएस के मीडिया प्रभारी ई. एस. प्रदीप ने कहा, ‘‘कुमारस्वामी के बयान इस लायक नहीं हैं कि उनका जवाब दिया जाए.’’ (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज