तीन हफ्ते के अंदर केंद्रीय मंत्रिमंडल के दो मंत्रियों का हुआ निधन, एक ने दिया इस्तीफा

कैबिनेट मंत्री रामविलास पासवान का निधन
कैबिनेट मंत्री रामविलास पासवान का निधन

Ram Vilas Paswan Death: राम विलास पासवान के निधन से पहले 23 सितंबर को रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी की कोरोना वायरस के चलते मौत हो गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2020, 11:02 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) का गुरुवार को नई दिल्ली में लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया है. तीन अक्टूबर को पासवान का दिल का ऑपरेशन हुआ था. एक माह के भीतर पासवान अंतिम सांस लेने वाले मोदी मंत्रिमंडल (Modi Cabinet) के दूसरे नेता हैं. इससे पहले 23 सितंबर को रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी (Suresh Angadi)का निधन हो गया था. अंगड़ी कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित थे. पिछले लोकसभा चुनाव में अंगड़ी कर्नाटक के बेलगावी से चौथी बार भाजपा सांसद बने थे. अंगड़ी 11 सितंबर को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे.

65 साल के अंगड़ी को कोरोना से संक्रमित पाए जाने के बाद एम्स के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया था. उनके निधन पर पीएम मोदी ने शोक जताते हुए कहा था कि उन्होंने कर्नाटक में भाजपा को मजबूत करने में अहम भूमिका निभाई थी और उनकी हर कोई तारीफ करता था. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने भी बुधवार को घोषणा की थी कि दिवंगत रेल राज्यमंत्री की स्मृति में नयी दिल्ली में एक स्मारक का निर्माण किया जाएगा. बता दें कोरोना वायरस प्रोटोकॉल के तहत उनका अंतिम संस्कार राष्ट्रीय राजधानी में किया गया था.

ये भी पढ़ें- रामविलास पासवान का 74 साल की उम्र में निधन, चिराग ने लिखा.. Miss You Papa! 




पासवान के निधन से राजनेताओं और समर्थकों में शोक
केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर तमाम राजनेता और पासवान के समर्थक शोक की लहर में डूब गए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर गहरा शोक प्रकट करते हुए कहा है कि उनके निधन से देश में ऐसा शून्य पैदा हुआ है जो शायद कभी नहीं भरेगा. वहीं बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पासवान के निधन को भारतीय राजनीति के लिये अपूरणीय क्षति बताया है. बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू प्रसाद की पत्नी राबड़ी देवी ने भी पासवान के देहावसान पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि आज हमारे घर पर चूल्हा नहीं जलेगा.

तीन हफ्तों में तीन बड़े नेता कैबिनेट से हुए कम
बता दें केंद्र की मोदी कैबिनेट से पिछले तीन हफ्तों में तीन बड़े नेता कम हुए हैं. सुरेश अंगड़ी के निधन से कुछ दिन पहले 18 सितंबर को हरसिमरत कौर बादल ने कृषि कानूनों के विरोध में इस्तीफा दे दिया था. हरसिमर कौर बादल के इस्तीफे के बाद  खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर को सौंपा गया था.

ये भी पढ़ें- Ram Vilas Paswan death: पासवान ने 6 PM के साथ किया काम, बिहार के इस गांव से शुरू हुआ सफर

23 सितंबर को सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 के चलते निधन हो गया. इसके बाद आज गुरुवार 8 अक्टूबर को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने लंबी बीमारी के बाद इस दुनिया को अलविदा कह दिया.

केंद्रीय मंत्रिमंडल से तीन अहम मंत्रियों की रुखसती के बाद कैबिनेट के विस्तार को लेकर भी सवाल उठने शुरू हो गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज