Home /News /nation /

इस देश में स्कूल में पढ़ाई जाती है रामायण और महाभारत

इस देश में स्कूल में पढ़ाई जाती है रामायण और महाभारत

File Photo

File Photo

रोमानिया के राजदूत राडू ओक्टावियन डोबरे ने बताया कि हमारे यहां 11वीं कक्षा में बच्चों को रामायण और महाभारत के अंश पढ़ाये जाते हैं.

    भारत और रोमानिया के बीच बेहद करीबी और मजबूत संबंधों को रेखांकित करते हुए रोमानिया के राजदूत राडू ओक्टावियन डोबरे ने बताया कि दोनों देशों के करीबी सांस्कृतिक संबंध हैं और इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हमारे यहां 11वीं कक्षा में बच्चों को रामायण और महाभारत के अंश पढ़ाये जाते हैं.

    भारत में रोमानिया के राजदूत डोबरे ने कहा कि दोनों देशों के लोगों के बीच संपर्क पहले से ज्यादा बढ़े हैं. दोनों देशों के बीच करीबी सांस्कृतिक संबंध हैं. उन्होंने कहा कि हमारे संबंध काफी करीबी हैं और इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि रोमानिया में 11वीं कक्षा में बच्चों को रामायण और महाभारत के अंश पढ़ाये जाते हैं. इंटरनेशनल कल्चर खंड में बच्चों को यह पढ़ाया जाता है.

    राडू ओक्टावियन डोबरे ने कहा कि हमारे देश में दो बालीवुड चैनल 24 घंटे प्रसारित होते हैं. हम दोनों देशों के बीच संबंधों को और मजबूत बनाना चाहते हैं. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता की भारत की दावेदारी के बारे में एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि रोमानिया, भारत को सुरक्षा परिषद के स्थाई सदस्य के रूप में देखना चाहता है.

    उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंधों को बढ़ावा देने में पर्यटन का महत्वपूर्ण स्थान है और हम रोमानिया को भारत के पर्यटन के नक्शे पर देखना चाहते हैं. रोमानिया के राजदूत ने कहा कि आज दुनिया में देशों के बीच आर्थिक संबंधों को काफी महत्व दिया जाता है, ऐसे में रोमानिया, भारत के साथ आर्थिक सहयोग को प्रगाढ़ बना रहा है.

    उन्होंने कहा कि हमारे दोनों देशों के बीच राजनीतिक संबंध पहले से ही अच्छे रहे हैं और अब ये शानदार हो गए हैं. आर्थिक स्तर पर सहयोग बढ़ाने की हमेशा गुंजाइश होती है और इस संदर्भ में पर्यटन एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है.

    Tags: Mahabharata

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर