रमीज राजा ने पाकिस्‍तान बोर्ड को कहा, बढ़ती जा रही है इस खिलाड़ी की उम्र, जल्‍दी दें मौका

रमीज राजा ने पाकिस्‍तान बोर्ड को कहा, बढ़ती जा रही है इस खिलाड़ी की उम्र, जल्‍दी दें मौका
रमीज राजा ने कहा फवाद आलम का इंतजार और लंबा खिंचता है तो उन पर उम्र का असर दिखना शुरू हो सकता है

पाकिस्तान और इंग्लैंड (Pakistan vs England) के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज पांच अगस्त से मैनचेस्टर में शुरू होगी.

  • Share this:
कराची. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान रमीज राजा (Ramiz Raja) का मानना है कि इंग्लैंड के खिलाफ जैव सुरक्षित वातावरण में खेली जाने वाली आगामी टेस्ट सीरीज में पिछले एक दशक से अधिक समय से दूसरे अवसर का इंतजार कर रहे बाएं हाथ के बल्लेबाज फवाद आलम को मौका मिलना चाहिए. रमीज ने कहा कि 34 वर्षीय आलम लंबे समय से टेस्ट क्रिकेट में दूसरे मौके इंतजार कर रहे हैं.

उन्होंने यूट्यूब सत्र में प्रशंसकों के जवाब देते हुए कहा कि मेरा मानना है कि आलम ने घरेलू क्रिकेट में जिस तरह से लगातार अच्छा प्रदर्शन किया, उसे देखते हुए वह मौके के हकदार हैं, क्योंकि अब उनकी उम्र बढ़ती जा रही है.





उम्र का दिखने लगेगा असर
रमीज ने कहा कि मुझे लगता कि उन्हें फवाद आलम को टीम में रखना चाहिए, क्योंकि वह लंबे समय से इंतजार कर रहे है. अगर यह इंतजार और लंबा खिंचता है तो उन पर उम्र का असर दिखना शुरू हो सकता है, क्योंकि आपके ‘रिफलेक्स’ धीमे पड़ने लग जाते हैं. उन्‍हें टेस्ट श्रृंखला में निश्चित तौर पर एक मौका मिलना चाहिए.
पाकिस्तान और इंग्लैंड  (Pakistan vs England)  के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज पांच अगस्त से मैनचेस्टर में शुरू होगी. आलम ने पाकिस्तान की तरफ से केवल तीन टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 41.66 की औसत से 250 रन बनाए हैं. उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट मैच 2009 में न्यूजीलैंड के खिलाफ ड्यूनेडिन में खेला था. मध्यक्रम के बल्लेबाज हारिश सोहेल के निजी कारणों से हटने के कारण आलम को मौका मिलने की संभावना है.

डेब्‍यू टेस्‍ट में जड़ा था शतक
श्रीलंका के खिलाफ जुलाई 2009 में अपने टेस्ट पदार्पण में शतक जड़ने वाले आलम ने 2010 से 2015 के बीच 38 वनडे और 24 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच भी खेले. रमीज ने इसके साथ ही कहा कि पाकिस्तान को अंतिम एकादश में तीन सलामी बल्लेबाजों को रखकर इमाम उल हक को तीसरे नंबर पर उतारना चाहिए.
उन्होंने कहा कि वे इमाम को अतिरिक्त सलामी बल्लेबाज के रूप में रख सकते हैं, क्योंकि कोविड-19 की परिस्थितियों में गेंदबाज गेंद को चमकाने के लिए लार का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं, ऐसे में बिना विकेट गंवाये नई गेंद की चमक खत्म करना महत्वपूर्ण होगा. इसलिए मुझे लगता है कि टीम में अतिरिक्त सलामी बल्लेबाज होना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading