होम /न्यूज /राष्ट्र /भारत में नहीं दिखा रमजान का चांद, पहला रोज़ा शुक्रवार को होगा

भारत में नहीं दिखा रमजान का चांद, पहला रोज़ा शुक्रवार को होगा

रमजान का पहला रोजा 24 मार्च को शुरू होगा. (सांकेतिक फोटो)

रमजान का पहला रोजा 24 मार्च को शुरू होगा. (सांकेतिक फोटो)

दिल्ली समेत देश के किसी भी हिस्से में बुधवार को रमज़ान के महीने का चांद नज़र नहीं आया है और पहला रोज़ा 24 मार्च को होगा ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

भारत में रमज़ान के महीने का चांद नज़र नहीं आया.
24 मार्च को रमज़ान का पहला रोजा होगा.
चांद दिखने के बाद अगले दिन से पवित्र महीने का आगाज़ हो जाता है.

नई दिल्ली. दिल्ली समेत देश के किसी भी हिस्से में बुधवार को रमज़ान के महीने का चांद नज़र नहीं आया है और पहला रोज़ा 24 मार्च को होगा. चांदनी चौक स्थित फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मौलाना मुफ्ती मुकर्रम अहमद ने बताया कि दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार और तेलंगाना समेत देश के किसी भी हिस्से से रमज़ान का चांद दिखने की खबर नहीं मिली, लिहाज़ा ऐलान किया जाता है कि पहला रोज़ा 24 मार्च यानी शुक्रवार को होगा. इस्लाम में एक महीना 29 या 30 दिन का होता है। महीने के दिनों की संख्या चांद दिखने पर निर्भर करती है. उन्होंने कहा कि गुरुवार को इस्लामी कैलेंडर के आठवें महीने ‘शाबान’ की 30 तारीख है.

जामा मस्जिद के नायब इमाम सैयद शाबान बुखारी ने एक बयान में कहा, ‘22 मार्च को माहे रमज़ान मुबारक का चांद मुल्क के किसी भी हिस्से में नज़र नहीं आया है, लिहाज़ा रमज़ान का महीना शुक्रवार से शुरू होगा.’ मुस्लिम संगठन ‘इमारत-ए-शरिया हिंद’ ने एक बयान में कहा कि चांद न तो दिल्ली में दिखा और न ही देश के किसी हिस्से से उसके दिखने की खबर मिली. संगठन की रुयत-ए-हिलाल (चांद समिति) के सचिव नजीबुल्लाह कासमी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि रमज़ान के महीने का आगाज़ 24 मार्च से होगा. इमारत-ए-शरिया हिंद, जमीयत उलेमा-ए-हिंद का हिस्सा है. 

ये भी पढ़ें- जिहाद के लिए तरसे तालिबानी, कहा- सरकारी नौकरी में पड़ी इंटरनेट की लत, ऑफिस लेट होने पर कट जाती है सैलरी

रमज़ान का चांद दिखने के बाद अगले दिन से पवित्र महीने का आगाज़ हो जाता है और अगले 30 दिन तक मुस्लिम समुदाय के सदस्य सूरज निकलने से लेकर सूर्यास्त तक न कुछ खाते हैं और न पीते हैं और ज्यादा से ज्यादा वक्त अल्लाह की इबादत में लगाते हैं. साथ में शाम में मस्जिदों में विशेष नमाज़ अदा की जाती है जिसे ‘ताराहवी’ कहा जाता है. इस नमाज़ में पूरे कुरान का पाठ किया जाता है। यह सिलसिला ईद का चांद दिखने तक जारी रहता है. इस बार ईद 21 या 22 अप्रैल को पड़ सकती है.

Tags: Moon, Muslim, Ramzan

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें