लाइव टीवी

नन रेप केसः आरोपी बिशप मुलक्कल 84 दिन बाद पुलिस के सामने पेश

News18Hindi
Updated: September 19, 2018, 11:20 AM IST
नन रेप केसः आरोपी बिशप मुलक्कल 84 दिन बाद पुलिस के सामने पेश
आरोपी बिशप मुलक्कल की फाइल फोटो

सूत्रों के अनुसार अगर पुलिस पूछताछ के दौरान पर्याप्त सबूत इकट्ठा कर लेती है तो बिशप को हिरासत में लिया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2018, 11:20 AM IST
  • Share this:
नन से बलात्कार के आरोपी जालंधर के 54 वर्षीय बिशप फ्रेंको मुलक्कल बुधवार को कोच्चि स्थित क्राइम ब्रांच ऑफिस पहुंच चुके हैं. वह FIR के 84 दिन बाद पुलिस के सामने पेश हो रहे हैं. सूत्रों के अनुसार अगर पुलिस पूछताछ के दौरान पर्याप्त सबूत इकट्ठा कर लेती है तो बिशप को हिरासत में लिया जा सकता है. पुलिस ने कहा कि केरल हाईकोर्ट की ओर से ऐसा कोई आदेश पारित नहीं किया गया है जिससे हिरासत में लेने पर कोई रोक लगे.

फ्रेंको मुलक्कल ने मंगलवार को केरल उच्च न्यायालय में अग्रिम जमानत याचिका दायर की जिस पर 25 सितंबर को सुनवाई होगी. बिशप फ्रेंको मुलक्कल ने अग्रिम जमानत की याचिका में दावा किया है कि उनके खिलाफ आरोप एक गढ़ी हुई कहानी है जिसका उद्देश्य बदला लेना है.

सूत्रों के मुताबिक, पूछताछ के दौरान बिशप के जवाबों में विरोधाभास के आधार पर किया जाएगा कि उसे गिरफ्तार किया जाए या नहीं. एसआईटी ने उससे पूछताछ करने के लिए 100 से अधिक प्रश्न तैयार किए हैं और यदि 10 से अधिक सवालों के जवाब में विरोधाभास पाए गए तो गिरफ्तारी जल्द ही होगी.

यह भी पढ़ें:  नन रेप केसः आरोपी बिशप ने पोप को लिखा पत्र, 'कुछ वक्त के लिए पद छोड़ना चाहता हूं'

कानूनी विशेषज्ञों की मानें तो हो सकता है कि अग्रिम जमानत की याचिका अदालत में लंबित होने के दौरान पुलिस मुलक्कल के गिरफ्तार नहीं करे. हालांकि अगर पर्याप्त सबूत हुये तो वह उन्हें गिरफ्तार कर भी सकती है. मुलक्कल ने मंगलवार सुबह अग्रिम जमानत की याचिका दायर की थी और अपने खिलाफ लगे आरोपों को गढ़ी हुई कहानी बताया था.

बिशप ने दावा किया कि आरोप लगाने वाली नन के खिलाफ उन्हें कई शिकायतें मिली थीं जिन पर उन्होंने कार्रवाई की थी. इसी का बदला लेने के लिए उनके खिलाफ आरोप लगाए गए और इसके लिए कहानी गढ़ी गई. आरोप लगाने वाली नन जालंधर डायोसिस के तहत आने वाले धर्म संघ में सेवारत हैं. निर्दोष होने का दावा करते हुए बिशप ने यह भी कहा कि कि नन की शिकायत कुछ और नहीं बल्कि काल्पनिक कहानी है.

नन ने आरोप लगाया है कि वरिष्ठ कैथोलिक बिशप ने वर्ष 2014 से 2016 के बीच उनका कई बार यौन उत्पीड़न किया. (एजेंसी इनपुट के साथ)यह भी पढ़ें:   नन रेप केस: केरल उच्च न्यायालय ने पुलिस की जांच पर संतोष जताया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 19, 2018, 11:06 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर