रतन टाटा ने बताया, कई बार कोशिश के बावजूद इस कारण नहीं हो सकी शादी

रतन टाटा ने बताया, कई बार कोशिश के बावजूद इस कारण नहीं हो सकी शादी
टाटा नैनो की लॉन्चिंग के दौरान रतन टाटा की फाइल फोटो (फोटो- ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे, फेसबुक)

रतना टाटा (Ratan Tata) ने कहा है कि जब हमने टाटा नैनो (Tata Nano) को लॉन्च किया था तब हमारी लागत, कीमत से ज्यादा थी लेकिन मैंने वादा किया था इसलिए मैंने उस वादे को निभाया.

  • Share this:
नई दिल्ली. उद्योगपति रतन टाटा (Industrialist Ratan Tata) ने ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे के साथ अपने तीन भाग के इंटरव्यू का अंत करते हुए अपने रिटायरमेंट (Retirement) के बाद के जीवन पर बातचीत की. उन्होंने बताया कि क्यों उन्होंने कभी शादी नहीं की और उन्हें टाटा नैनो (Tata Nano) का आइडिया कहां से आया?

रतन टाटा (Ratan Tata) ने इंटरव्यू की शुरुआत यह कहते हुए शुरुआत की, "हमेशा से, मेरी जिंदगी कंपनी के लिए और इसे बढ़ाने को लेकर रही." यह बात रतन टाटा ने अपने इंटरव्यू के पिछले हिस्से के आगे से बात शुरू करते हुए कही. पिछले हिस्से में वे अपने टाटा ग्रुप का चेयरमैन (Chairman of Tata Group) बनाए जाने तक की बात बता चुके थे.

इस घटना से प्रभावित होकर रतना टाटा को आया था टाटा नैनो का आइडिया
अपनी पोस्ट में 82 साल के रतन टाटा ने कहा कि समाज को वापस लौटाने की सोच टाटा के डीएनए में इसकी शुरुआत से ही जुड़ी हुई है. उन्होंने कहा, उदाहरण के तौर पर जमशेदपुर (Jamshedpur) के साथ, हमें यह महसूस हुआ कि हमारे कामगार तो अच्छा कर रहे हैं लेकिन आस-पास के गांव अभी भी कष्ट उठा रहे हैं, ऐसे में उनके जीवन-स्तर को उठाना भी हमारा लक्ष्य बन गया.
टाटा सन्स के एमेरिट्स चेयरमैन ने अपने ब्रेनचाइल्ड, टाटा नैनो कार (Tata Nano Car) के बारे में भी बात की और बताया कि उन्होंने संसाधनों को एक किफायती वाहन बनाने में निवेश किए जाने का फैसला क्यों लिया? उन्होंने कहा कि जब उन्होंने भारी बारिश में चार लोगों के एक परिवार को मोटरबाइक पर जाते देखा तो उन्हें लगा कि उन्हें इन परिवारों के लिए कुछ करना भी चाहिए जो कि एक विकल्प की तलाश में अपनी जिंदगी को खतरे में डाल रहे हैं.



टाटा ने कहा- नैनो बनाने पर मुझे गर्व
रतन टाटा ने कहा, जिस समय हमने नैनो लॉन्च की, इसकी लागत, दाम से ज्यादा थी लेकिन मैंने एक वादा किया था और हमने उस वादे को निभाया. जब पीछे देखता हूं तो आज भी मुझे उस कार और उसे लेकर किए फैसले पर आगे बढ़ने पर गर्व है.

टाटा नैनो को 10 साल से भी ज्यादा पहले भारत की सबसे ज्यादा किफायती कार के तौर पर लॉन्च किया गया था. हालांकि कार की बिक्री बहुत ज्यादा नहीं हुई और कई कारों के इंजन में आग लगने के बाद इसकी सुरक्षा को लेकर भी कई सवाल उठे थे.

काम के चलते शादी भी नहीं कर सके रतन टाटा
मेरी जिंदगी हमेशा काम के इर्द-गिर्द घूमती रही- काम ही मेरी जीवनशैली (Life Style) बन गया. या तो मैं हमेशा अपने बॉम्बे हाउस में होता था या यात्रा कर रहा होता था. मुझे लगता है इस वजह से व्यक्तिगत स्तर पर 2-3 अलग-अलग पार्टनर्स से मेरी शादी की बात बिल्कुल आखिरी तक पहुंची. लेकिन मैं ऐसा कर नहीं सका क्योंकि उन्हें मेरी जीवनशैली के हिसाब से बदलना ही पड़ता और यह मेरे साथ ठीक नहीं होता.

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस का खौफ: जिस होटल में ठहरा था पीड़ित पर्यटक, उसकी पूरी 1 मंजिल सीज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading