गोवा में चल रही थी रेव पार्टी, 9 लाख की ड्रग्स के साथ 20 से अधिक गिरफ्तार

गोवा में चल रही थी रेव पार्टी, 9 लाख की ड्रग्स के साथ 20 से अधिक गिरफ्तार
गोवा के वागाटोर के फ्रेंगिपैनी विला में चल रही थी रेव पार्टी.

गोवा (Goa) के क्राइम ब्रांच ने वागाटोर के फ्रेंगिपैनी विला में शनिवार रात को एक रेव पार्टी (Rave Party) का भंडाफोड़ किया है. क्राइम ब्रांच ने रेव पार्टी में शामिल 20 से अधिक लोगों को हिरासत में ले लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 16, 2020, 2:12 PM IST
  • Share this:
पणजी. उत्तर गोवा जिले में अपराध शाखा ने एक रेव पार्टी में छापा मारा जहां कथित तौर पर मादक पदार्थों का सेवन किया जा रहा था. पुलिस ने इस मामले में तीन विदेशियों सहित 23 लोगों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने बताया कि शनिवार रात को अंजुना पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत वगाटर गांव में एक विला में पार्टी चल रही थी. वहां से नौ लाख रुपए से अधिक मूल्य का मादक पदार्थ जब्त किया गया है.अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों में दो महिलाएं रूस की हैं और एक महिला चेक गणराज्य की है. उन्होंने बताया कि इन लोगों को स्वापक औषधि एवं मन:प्रभावी पदार्थ (एनडीपीएस) अधिनियम के तहत प्रतिबंधित पदार्थ रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.


उन्होंने बताया कि पार्टी आयोजित करने वाले एक भारतीय व्यक्ति को भी एनडीपीएस अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है.उन्होंने बताया कि पार्टी में मौजूद 19 अन्य लोगों को सामाजिक दूरी के नियम का पालन नहीं करने के लिए गिरफ्तार किया गया है. इनमें से ज्यादातर घरेलू पर्यटक थे जो छुट्टियां मनाने के लिए तटीय राज्य आए थे.



इसे भी पढ़े :- उत्तरी गोवा के अस्पताल में कोविड-19 के टीके का इंसानों पर होगा परीक्षण, तैयारियां पूरी

गोवा के पुलिस महानिदेशक मुकेश कुमार मीणा ने एक ट्वीट में कहा, जन सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए मादक पदार्थ के प्रति कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति के तहत गोवा पुलिस की अपराध शाखा ने अंजुना में देर रात पार्टी का भंडाफोड़ किया. तीन विदेशियों सहित 23 लोगों को गिरफ्तार किया गया और नौ लाख रुपये से अधिक का मादक पदार्थ जब्त किया गया. सिओलिम निर्वाचन क्षेत्र से गोवा फॉरवर्ड पार्टी के विधायक विनोद पल्येकर ने दावा किया कि तटीय इलाके में रेव पार्टियां धड़ल्ले से चल रही है.उन्होंने कहा इसके लिए स्थानीय पुलिस स्टेशनों को रिश्वत दी जाती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज