भड़के पाक को विदेश मंत्रालय का करारा जवाब, सच से कब तक बचते रहेंगे

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि यह पाकिस्तान के लिए वास्तविकता को स्वीकार करने का समय है.

News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 4:46 PM IST
भड़के पाक को विदेश मंत्रालय का करारा जवाब, सच से कब तक बचते रहेंगे
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि यह पाकिस्तान के लिए वास्तविकता को स्वीकार करने का समय है.
News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 4:46 PM IST
जम्मू और कश्मीर (Jammu And Kahsmir) से आर्टिकल 370 और आर्टिकल 35ए (Article 370 and article 35a) रद्द करने के बाद से ही भारत (India) के खिलाफ फैसले ले रहे पाकिस्तान (Pakistan) को विदेश मंत्रालय (MEA) ने करारा जवाब दिया है. विदेश मंत्रालय ने कहा है कि पाकिस्तान को वास्तविकता स्वीकार करनी चाहिए.

शुक्रवार को प्रेस ब्रिफिंग के दौरान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि 'यह पाकिस्तान के लिए वास्तविकता को स्वीकार करने का समय है. उसे दूसरे देशों के आंतरिक मसलों में दखलअंदाजी से बचना चाहिए.'

पाकिस्तान में भारतीय हाईकमिश्नर से जुड़े सवाल पर रवीश कुमार ने कहा कि 'वह दिल्ली में नहीं हैं. हमने पाकिस्तान से अनुरोध किया है कि वे अपना फैसले की समीक्षा करें. अभी उनके आने का वक्त तय नहीं हुआ है. उस पर फैसला बाद में होगा.'

यह भी पढ़ें: पाक ने बंद की एक और ट्रेन, कराची-जोधपुर एक्सप्रेस पर रोक

रवीश कुमार ने पाकिस्तानी एयर स्पेस बंद होने के सवाल पर कहा कि एयर स्पेस ऑपरेशनल है सिर्फ री रूटिंग की गई है. पाकिस्तान की ओर से समझौता एक्स्प्रेस और थार एक्सप्रेस का संचालन ठप करने के फैसले पर रवीश कुमार ने कहा कि यह फैसला एकतरफा है. यह बिना हमसे सलाह लिए किया गया. हमने उनसे अपील की है कि वह अपना फैसला की दोबारा समीक्षा करें.

गुरुवार को भी मंत्रालय ने दिया था जवाब

गुरुवार को भी विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान (Pakistan) की ओर से भारत के राजनयिक स्तर में कटौती करने सहित अन्य कदमों को दुनिया के सामने द्विपक्षीय संबंधों की चिंताजनक तस्वीर पेश करने का प्रयास बताया है. विदेश मंत्रालय ने कहा था कि भारत का संविधान हमेशा से संप्रभु मामला रहा है और आगे भी रहेगा. पाकिस्तान की इस अधिकार क्षेत्र में हस्तक्षेप कर क्षेत्र की चिंताजनक तस्वीर पेश करने की चाल कभी सफल नहीं होगी.
Loading...

मंत्रालय ने कहा था, ‘ भारत सरकार कल पाकिस्तान द्वारा घोषित कदमों की निंदा करती है और उस देश से इसकी समीक्षा करने को कहती है ताकि सामान्य राजनयिक चैनल को बनाये रखा जा सके.’  विदेश मंत्रालय ने कहा था कि हमने उन खबरों को देखा है जिनमें कहा गया है कि पाकिस्तान ने भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों को लेकर कुछ एकतरफा फैसला किया है. इसमें हमारे राजनयिक संबंधों के स्तर में कटौती करना शामिल है.

यह भी पढ़ें: सिने वर्कर्स बोले- जब तक पाक कलाकार बैन नहीं, तब तक काम नहीं
First published: August 9, 2019, 4:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...