लाइव टीवी

भारत ने कहा-करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान कन्फ्यूज, उनकी एजेंसी और विदेश मंत्रालय में ही मतभेद

News18Hindi
Updated: November 7, 2019, 5:46 PM IST
भारत ने कहा-करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान कन्फ्यूज, उनकी एजेंसी और विदेश मंत्रालय में ही मतभेद
पाकिस्तान करतारपुर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए दस्तावेज पर बार बार रुख बदल रहा है.

रवीश कुमार (Raveesh Kumar) ने कहा, ''पाकिस्तान (Pakistan) से आने वाली रिपोर्ट भ्रमित करने वाली हैं. पहले वह कहते हैं कि पासपोर्ट (Passport) की जरूरत नहीं है. फिर कहते हैं कि अब जरूरत होगी. हमें लगता है कि उनके एजेंसियों और विदेश मंत्रालय के बीच काफी मतभेद हैं. हमने करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) को लेकर एक एमओयू किया है. ये बदल नहीं सकता.''

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2019, 5:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन 9 नवंबर को होने जा रहा है. लेकिन पाकिस्तान इससे संबंधित मुद्दे पर बार बार अपना रुख बदल रहा है. पहले पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कहा कि पाक आने वाले सिख श्रद्धालुओं को पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी. लेकिन जब भारत ने इस मुद्दे पर स्पष्टीकरण मांगा तो पाकिस्तान ने कहा कि श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट अनिवार्य होगा. इस मुद्दे पर गुरुवार को भारत के विदेश मंत्रालय की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि इस मुद्दे पर पाकिस्तान कन्फ्यूज नजर आता है.

रवीश कुमार ने कहा, ''पाकिस्तान से आने वाली रिपोर्ट भ्रमित करने वाली हैं. पहले वह कहते हैं कि पासपोर्ट की जरूरत नहीं है. फिर कहते हैं कि अब जरूरत होगी. हमें लगता है कि उनकी एजेंसियों और विदेश मंत्रालय के बीच काफी मतभेद हैं. हमने करतारपुर कॉरिडोर को लेकर एक एमओयू किया है. ये बदल नहीं सकता. इसके अनुसार पाकिस्तान जाने वाले श्रद्धालुओं को पासपोर्ट की जरूरत होगी.'' रवीश कुमार ने कहा, ''हम ये बात अच्छी तरह जानते हैं कि भारत और पाकिस्तान के बीच एक डॉक्यूमेंट साइन किया गया है. इसमें साफ तौर पर लिखा है कि श्रद्धालुओं को दस्तावेज लेकर आने होंगे. ऐसे में इस समझौते में लिखी बातों को एकतरफा तरीके से हटाया नहीं जा सकता. इसके लिए पहले दोनों पक्षों को सहमत होना होगा.''



भिंडरावाले के वीडियो पर पाकिस्तान को दो टूक
Loading...

रवीश कुमार ने कहा, पाकिस्तान की ओर से जारी किए गए वीडियो में खालिस्तानी विद्रोही जरनैल सिंह भिंडरावाले को दिखाया गया है. हम पाकिस्तान के इस कृत्य की भर्त्सना करते हैं, जो उसने ऐसी यात्रा के समय को इस चीज के लिए इस्तेमाल किया. हमने कड़ा विरोध जताया है. हमने पाकिस्तान के साथ बातचीत में इस बात को साफ कर दिया है कि हम भारत विरोधी चीजों को बर्दाश्त नहीं करेंगे. हमने मांग की है कि इस आपत्तिजनक वीडियो और प्रिंट मटीरियल को तुरंत हटाया जाए.

यह भी पढ़ें :

पाकिस्‍तान जाने को उतावले हैं सिद्धू, लिख रहे हैं चिट्टी पर चिट्ठी
करतारपुर पर PAK का यू-टर्न, श्रद्धालुओं के लिए अब अनिवार्य किया ये दस्तावेज
पाकिस्तानी सेना की मंशा करतारपुर के जरिए पंजाब में अलगाववाद को बढ़ावा देने की

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 4:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...