लाइव टीवी

यूपी लोकसभा नतीजे: योगी आदित्यनाथ के गढ़ में BJP के रवि किशन ने शुरुआत रुझानों में विपक्षियों को चटाई धूल

News18Hindi
Updated: May 23, 2019, 9:31 AM IST
यूपी लोकसभा नतीजे: योगी आदित्यनाथ के गढ़ में BJP के रवि किशन ने शुरुआत रुझानों में विपक्षियों को चटाई धूल
रवि किशन

यूपी लोकसभा नतीजे (Uttar Pradesh Election Result): रवि किशन (Ravi Kishan): भोजपुरी फिल्मों के स्टार ने खुलासा करते हुए कहते हैं कि मुझे अपनी चिंता नहीं थी. लेकिन मां-पिता जी को देखकर मुझे बहुत दुख होता था.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव रिजल्ट 2019 के लिए शुरुआती रुझान आने शुरू हो गए हैं. 17वीं लोकसभा के लिए हुए चुनाव में उत्तर प्रदेश के नतीजे सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं. इस क्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ के गढ़ गोरखपुर लोकसभा सीट के परिणाम भारतीय जनता पार्टी (BJP) के लिहाज बेहद मायने रखते हैं. बीजेपी ने यहां भोजपुरी और हिन्दी फिल्म स्टार रवि किशन को मैदान में उतारा है. शुरुआती रुझान में वे अपने प्रतिद्वंदियों से आगे चल रहे हैं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गोरखपुर सदर लोकसभा सीट से भाजपा के उम्मीदवार बने भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार रवि किशन के पास भले ही आज पैसों की कोई कमी न हो. लेकिन उनका जीवन काफी संघर्ष भरा रहा है. न्यूज18 से खास बातचीत में रवि किशन ने अपने जीवन के कुछ यादें हम से साझा किए. लाखों की तादाद में फैन फॉलोइंग रखने वाले रवि किशन कहते हैं कि एक समय ऐसा था कि जब मुझे अखबार बेचना पड़ा. जौनपुर के छोटे से गांव बिसुई के रहने वाले रवि किशन ने बताया कि दीवाली और होली के त्यौहार में मेरे पास और न ही मां के पास पहनने को नए कपड़े नहीं होते थे.

25 रुपए महीने की नौकरी
भोजपुरी फिल्मों के स्टार ने खुलासा करते हुए कहते हैं कि मुझे अपनी चिंता नहीं थी. लेकिन मां-पिता जी को देखकर मुझे बहुत दुख होता था. हम 25 रुपये महीने पर नौकरी करके अखबार बेचते थे. उन्होंने बताया कि गांव के बाहर स्कूल के पास नीचे जमीन पर बोरा बिछाकर न्यूज पेपर बेचा. मुझे इससे जो पैसे मिले, उससे हमने अपने मां-पिता जी के लिए नए कपड़े खरीदे. रवि ने कहा, 'मैं जीवन में कुछ भी बन जाऊं, लेकिन इस घटना को कभी नहीं भूल सकता.'

रवि किशन ने स्ट्रगल के दौरान अपनी जिंदगी के बुरे वक्त के बारे में बताया कि हम लोग बहुत गरीब थे. गोरखपुर सीट से जनता का मिला रहा प्यार और समर्थन के बारे में रवि कहते हैं कि आज मुझे मुस्लिम महिलाओं का बहुत आर्शीवाद मिल रहा है. रवि किशन ने बताया कि पीएम मोदी और सीएम योगी ने जो विकास देश और प्रदेश में किया है, उसका नतीजा है कि 2019 के चुनाव में बीजेपी केंद्र में प्रचंड बहुमत वाली सरकार 23 मई को बनाने जा रही हैं.

17 जुलाई, 1969 को जौनपुर के छोटे से गांव बिसुईं में जन्मे रवि की पत्नी का नाम प्रीति है. उनके चार बच्चे हैं. तीन बेटियां (रेवा, तनिष्क, और इशिता) व एक बेटा सक्षम है. रवि किशन अपने प्रसिद्ध संवाद  'जिंदगी झंडबा … फिर भी घमंडबा' के लिए जाने जाते हैं. 2006 में, बिग बॉस 1 में वह फाइनल प्रतियोगी भी थे. वर्ष 2012 में उन्होंने 'झलक दिखला जा- 5' कार्यक्रम में भाग भी लिया था. वर्ष 2007 में, उन्होंने स्पाइडर-मैन फिल्म के अभिनेता पीटर पार्कर की आवाज को भोजपुरी में डब किया.

लग्जरी गाड़ियों के शौकीनबता दें कि 51 साल के भोजपुरी स्टार रवि किशन शुक्ला उर्फ रवीन्द्र श्याम नारायण शुक्ला लग्जरी गाड़ियों के शौकीन हैं. गोरखपुर सदर सीट से नामांकन के दौरान उन्होंने अपनी और पत्नी के नाम कुल चल-अचल संपत्ति करीब 21 करोड़ बताई है. वहीं बीजेपी की सबसे सुरक्षित सीटों की बात की जाए तो उनमें से गोरखपुर एक है. इस सीट पर अब तक 18 बार लोकसभा चुनाव हुए हैं, जिसमें से 8 बार गोरक्षपीठ का ही कब्जा रहा है.

अपने WhatsApp पर पाएं लोकसभा चुनाव के लाइव अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2019, 9:23 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर