नागरिकता कानून पर हिंसा में PFI का हाथ! सिमी से कनेक्शन पर कानून मंत्री ने दिया बड़ा बयान

रविशंकर प्रसाद ने कहा, जो सबूत मिले हैं उसमें पीएफआई का सिमी से कनेक्शन सामने आया है.

रविशंकर प्रसाद ने कहा, जो सबूत मिले हैं उसमें पीएफआई का सिमी से कनेक्शन सामने आया है.

सरकार कह रही है कि जगह-जगह भड़की हिंसा में पीएफआई (PFI) की भूमिका सामने आ रही है. केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) का कहना है कि अब केंद्रीय गृहमंत्रालय (Home Ministry) सबूत के आधार पर तय करेगा कि क्या कार्रवाई करनी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 1, 2020, 5:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में नागरिकता कानून (Citizenship Amendment Act) के बाद यूपी के पश्चिमी हिस्से में भड़की हिंसा में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) का हाथ होने की बात कही जा रही है. खुद सरकार कह रही है कि जगह-जगह भड़की हिंसा में पीएफआई (PFI) की भूमिका सामने आ रही है. केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) का कहना है कि अब केंद्रीय गृह मंत्रालय (Home Ministry) सबूत के आधार पर तय करेगा कि क्या कार्रवाई करनी है.



कानून मंत्री ने कहा, 'सबूतों के आधार पर ये बात सामने आ रही है कि पीएफआई का कनेक्शन सिमी (SIMI) से भी है.' पीएफआई की स्थापना 22 नवंबर 2006 को की गई थी. नागरिकता कानून पर भड़की हिंसा के बाद पुलिस ने इस संगठन के कुछ लोगों भी गिरफ्तार किया है. 2011 में खुफिया विभाग की आई एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हो चुका है कि पीएफआई का संबंध सिमी से है. मुस्लिम संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (सिमी) के प्रतिबन्धित इस्लामी संगठन सिमी से रिश्ते हैं. हालांकि ये संगठन पिछड़े और अल्पसंख्यकों के हक के लिए लड़ने का दावा करता रहा है. लेकिन ये संगठन अपनी गतिविधियों की वजह से फिलहाल सुरक्षा एजेंसियों के रडार पर है.



देश विरोधी गतिविधियों में शामिल है संगठन
खुफिया एजेंसियों की एक रिपोर्ट के मुताबिक ये संगठन देशविरोधी गतिविधियों में शामिल है. इस रिपोर्ट के मुताबिक पिछड़े और अल्पसंख्यकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक मदद पहुंचाने के नाम पर ये संगठन अपने खतरनाक मंसूबों को अंजाम देने में जुटा





है. सुरक्षा एजेंसियों के लिए सबसे बड़ी चिंता की बात ये है कि इस संगठन से जुड़े अस्सी से नब्बे फीसदी लोगों के तार या तो खाड़ी देशों से या फिर विदेशों से जुड़े हैं.



सिमी से जुड़े हैं पीएफआई के तार

खुफिया दस्तावेजों की रिपोर्ट के अनुसार, देश की बड़ी खुफिया एजेंसियों ने तैयार किया है. इसमें साफ-साफ लिखा है कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के तार सिमी जैसे संगठन से जुड़े हैं. इस रिपोर्ट में ये भी लिखा है कि ये संगठन देश की सुरक्षा के लिए खतरा है.



पीएफआई की गतिविधियां कभी दक्षिण भारत तक सीमित थीं. लेकिन अब इस संगठन ने अपने पैर देश के दूसरे हिस्सों में भी पसारने शुरू कर दिए हैं. हाल ही में इस संगठन ने अपना मुख्यालय दिल्ली शिफ्ट कर लिया है. ऐसे में राजधानी दिल्ली की सुरक्षा को खतरा हो सकता है.



यह भी पढ़ें...

PM मोदी के चेहरे पर दिल्ली विधानसभा चुनाव लड़ेगी बीजेपी- प्रकाश जावड़ेकर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज