SCO के कानून एवं न्याय मंत्रियों की बैठक की मेजबानी करेंगे रविशंकर प्रसाद

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो)
कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो)

Shanghai Cooperation Organisation: सोलह अक्टूबर को इस डिजिटल बैठक में चीन (China), पाकिस्तान (Pakistan), रूस (Russia), तजाकिस्तान (Tajikistan), कजाखस्तान (Kazakhstan) उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) और किर्गिज रिपब्लिक (Kyrgyz Republic) के कानून एवं न्याय मंत्री हिस्सा लेंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद (Law Minister Ravi Shankar Prasad) इस सप्ताह शंघाई सहयोग संगठन (Shanghai Cooperation Organisation) के न्याय मंत्रियों की सातवीं बैठक की मेजबानी करेंगे. कानून मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी. सोलह अक्टूबर को इस डिजिटल बैठक में चीन (China), पाकिस्तान (Pakistan), रूस (Russia), तजाकिस्तान (Tajikistan), कजाखस्तान (Kazakhstan) उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) और किर्गिज रिपब्लिक (Kyrgyz Republic) के कानून एवं न्याय मंत्री हिस्सा लेंगे. मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘एससीओ के न्याय मंत्रियों की सातवीं बैठक में सदस्य देश सहयोग के क्षेत्रों, विवादों के निस्तारण के लिए अनुकूल स्थिति बनाने तथा फोरेंसिक एवं कानूनी सेवाओं पर विशेषज्ञ कार्य समूह कार्ययोजना के क्रियान्वयन पर चर्चा करेंगे.’’

बैठक के बाद एक संयुक्त बयान भी जारी किया जाएगा. मंत्रालय के मुताबिक विधिक मामले विभाग के सचिव (कानून सचिव) अनुप कुमार मेंदिरत्ता मंगलवार और बुधवार को विशेष कार्यबल की द्वितीय बैठक की मेजबानी करेंगे. उसने कहा, ‘‘विशेषज्ञ कार्यबल अपने अनुभव एवं श्रेष्ठ पद्धतियां साझा करेगा तथा वह विवादों के निस्तारण को बढ़ावा देने के लिए अनुकूल माहौल बनाने के लिए उठाये गये आदर्श कदमों तथा (कानून एवं) न्याय मंत्रालय की कानूनी सेवाओं और फोरेंसिक गतिविधियों समेत अन्य गतिविधियों पर चर्चा करेगा.’’

ये भी पढ़ें- सुखबीर बादल की CM अमरिंदर को चुनौती- 7 दिन में सत्र न बुलाया तो करेंगे घेराव



इससे पहले सितंबर में शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के अध्यक्ष रूस (Russia) द्वारा आयोजित सदस्य देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों (NSA) की बैठक में पाकिस्तानी एनएसए (Pakistan's NSA) ने जानबूझकर एक झूठा मानचित्र (Fictitious Map) पेश किया जिसे पाकिस्तान (Pakistan) ने हाल ही में प्रचारित करना शुरू किया है.
ये भी पढ़ें- भारी युद्धक टैंकों की आवाजाही के लिए बनाए गए हैं नए पुल, सह सकते हैं 70 टन भार

पाकिस्तान (Pakistan) की ओर से मेजबान द्वारा दी गई सलाह के खिलाफ, घोर उपेक्षा वाला और बैठक के मानदंडों का उल्लंघन था. मेजबान के साथ परामर्श करके NSA अजीत डोभाल ने तुरंत ही इसका विरोध करते हुए बैठक को छोड़ दिया. पाक इसके बाद भी बैठक में एक भ्रामक तस्वीर पेश करता रहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज