लाइव टीवी

भारत के हितों, राष्ट्रीय प्राथमिकताओं के खिलाफ है आरसीईपी: पीयूष गोयल

भाषा
Updated: November 5, 2019, 4:18 AM IST
भारत के हितों, राष्ट्रीय प्राथमिकताओं के खिलाफ है आरसीईपी: पीयूष गोयल
पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने सोमवार को कहा कि आरईसीपी समझौता (RECP Agreement) भारत के हितों और प्राथमिकताओं के खिलाफ है, इसलिए भारत सरकार ने इस मुक्त व्यापार समझौते में शामिल नहीं होने का फैसला किया है.

पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने सोमवार को कहा कि आरईसीपी समझौता (RECP Agreement) भारत के हितों और प्राथमिकताओं के खिलाफ है, इसलिए भारत सरकार ने इस मुक्त व्यापार समझौते में शामिल नहीं होने का फैसला किया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री (Minister of Commerce and Industry) पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने सोमवार को कहा कि आरईसीपी समझौता (RECP Agreement) भारत के आर्थिक हितों एवं राष्ट्रीय प्राथमिकताओं के खिलाफ है. भारत ने चीन समर्थित इस मुक्त व्यापार समझौते में शामिल नहीं होने का फैसला किया है.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत विशेष रूप से व्यापार घाटे, अनुचित आयात से मजबूत सुरक्षा एवं घरेलू वस्तुओं के लिए बाजार के बेहतर अवसर को लेकर अपनी मांग बरकरार रखने के लिए अपने रुख पर अडिग रहा है.



ट्वीट कर कहा, मोदी है तो मुमकिन है
Loading...

पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा कि, ‘आरसीईपी में शामिल नहीं होने के बड़े एवं साहसी फैसले के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई. यह समझौता हमारे आर्थिक हितों एवं राष्ट्रीय प्राथमिकताओं के खिलाफ था. मोदी है तो मुमकिन है.’



मेक इन इंडिया को मिलेगा बढ़ावा
गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों, डेयरी क्षेत्र, लघु, कुटीर एवं मध्यम उपक्रमों यानी एमएसएमई और घरेलू विनिर्माण को लेकर चिंता जताई है. ‘इससे ‘मेक इन इंडिया’ को बढ़ावा मिलेगा.’

16 देशों के बीच होने वाले इस समझौते से बाहर रहने का फैसला कर चुका है भारत
उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को कहा कि भारत क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी (आरसीईपी) समझौते में शामिल नहीं होगा. भारत द्वारा उठाये गए मुद्दों और चिंताओं का संतोषजनक ढंग से समाधान नहीं होने पर उसने 16 देशों के बीच होने वाले इस समझौते से बाहर रहने का फैसला किया है.

ये भी पढ़ें - 

भविष्य निधि घोटाला: सचिव ऊर्जा, एमडी पावर कॉरपोरेशन का देर रात तबादला

नोएडा प्राधिकरण की जमीन पर कब्जा करने वाले बिल्डरों और भू-माफियाओं पर केस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 1:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...