70 देशों में फैला कोरोना का डेल्‍ड वैरिएंट, पढ़ें देश-दुनिया की 10 बड़ी खबरें एक क्लिक में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 जून को जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक दलों के साथ एक सर्वदलीय बैठक करने जा रहे हैं. (फाइल फोटो)

आइए जानते हैं उन प्रमुख खबरों के बारे में जिन्होंने देश ही नहीं दुनियाभर में सुर्खियां बटोरीं और आज इन पर आप सबकी रहेगी नजर.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. केंद्रीय गृह सचिव ने शनिवार को फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती समेत जम्मू कश्मीर के 14 नेताओं से 24 जून को प्रधानमंत्री आवास पर बैठक में शामिल होने के लिए संपर्क किया है. 18 जून को एक अधिकारी ने जानकारी दी थी कि जम्मू कश्मीर के राजनेताओं को 24 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के लिए फोन पर निमंत्रण मिला है. वहीं कोविड के डेल्टा वैरिएंट का संक्रमण अब देश दुनिया के 70 देशों में फैल गया है. कोविड के B.1.617.2 वैरिएंट को डेल्टा वैरिएंट कहा जाता है और भारत में संक्रमण की दूसरी लहर के लिए इसी स्ट्रेन को जिम्मेदार माना जा रहा है.

    रणदीप गुलेरिया बोले- कोरोना की तीसरी लहर अगले 6 से 8 हफ्तों में आ सकती है
    भारत में अगले 6-8 हफ्तों में कोरोना वायरस की तीसरी लहर की दस्तक हो सकती है. एम्स के प्रमुख डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने यह आशंका व्यक्त की है. उन्होंने इस बात के संकेत भी दिए हैं कि तीसरी लहर से 'बचा नहीं जा सकता'.
    मार्च के अंत में शुरू हुए लॉकडाउन के दौर के बाद देश के कई हिस्सों में अनलॉक की प्रक्रिया जारी है. हालांकि, एक्सपर्ट्स ने कुछ समय पहले ही तीसरी लहर को लेकर चेतावनी जारी की थी. सूत्रों के हवाले से बताया गया था महाराष्ट्र में अनुमानित समय से पहले तीसरी लहर आ सकती है.

    (यहां पढ़ें पूरी खबर)

    PM मोदी की बैठक के लिए फारूक , उमर और महबूबा मुफ्ती को भेजा गया न्योता
    केंद्रीय गृह सचिव ने शनिवार को फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती समेत जम्मू कश्मीर के 14 नेताओं से 24 जून को प्रधानमंत्री आवास पर बैठक में शामिल होने के लिए संपर्क किया है.
    18 जून को एक अधिकारी ने जानकारी दी थी कि जम्मू कश्मीर के राजनेताओं को 24 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के लिए फोन पर निमंत्रण मिला है. बैठक के लिए जम्मू कश्मीर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष से भी केंद्रीय गृह सचिव ने संपर्क किया है.

    (यहां पढ़ें पूरी खबर)

    IBPS स्कीम के तहत रोजगार सृजन में तमिलनाडु दूसरे स्थान प
    केंद्र द्वारा शुरू की गई इंडिया बिजनेस प्रोसेस आउसोर्सिंग प्रमोशन स्कीम यानी आईबीपीएस के तहत नए रोजगार के सृजन के मामले में आंध्र प्रदेश पहले स्थान पर है और दूसरे स्थान पर तमिलनाडु है. सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ इंडिया यानी एसटीपीआई ने शनिवार को यह जानकारी दी.
    आईबीपीएस योजना से दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहरों मे कई आईटी और बीपीओ कंपनियों का विस्तार हुआ है. योजना के तहत आंध्र प्रदेश ने सबसे अधिक 12,234 नए रोजगार के अवसरों का सृजन किया है.

    (यहां पढ़ें पूरी खबर)

    डॉक्टरों पर हुए हमलों पर केंद्र ने लिया एक्शन, राज्यों को FIR दर्ज करने का आदेश
    देशभर में डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों पर हुए हमले पर केंद्र सरकार ने एक्शन लिया है. केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों और प्रशासकों को स्वास्थ्य कर्मियों के हमलों की घटनाओं की जांच के उपायों के कार्यान्वयन के लिए पत्र लिखा है.
    केंद्र सरकार की ओर से राज्यों को कहा गया है कि वह स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने वालों पर एफआईआर दर्ज करें. केंद्र की ओर से कहा गया है कि चिकित्सकों, स्वास्थ्य सेवा कर्मियों पर कोई हमला उनके बीच असुरक्षा की भावना पैदा कर सकता है.

    (यहां पढ़ें पूरी खबर)

    70 से ज्यादा देशों में फैला कोरोना का डेल्टा वैरिएंट
    कोविड के डेल्टा वैरिएंट का संक्रमण अब देश दुनिया के कई देशों में फैल गया है. कोविड के B.1.617.2 वैरिएंट को डेल्टा वैरिएंट कहा जाता है और भारत में संक्रमण की दूसरी लहर के लिए इसी स्ट्रेन को जिम्मेदार माना जा रहा है.
    कोविड के डेल्टा वैरिएंट का संक्रमण अब ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका जैसे भी देश भी डेल्टा वैरिएंट को लेकर सतर्क हो गए हैं, क्योंकि इन देशों में संक्रमण के मामले फिर बढ़ने लगे हैं.

    (यहां पढ़ें पूरी खबर)

    असम में लागू होगा दो बच्‍चों का नियम, शुरुआत में कुछ खास योजनाओं में मिलेगा लाभ
    मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने शनिवार को कहा कि असम सरकार राज्य द्वारा वित्त पोषित विशेष योजनाओं के तहत लाभ लेने के लिए चरणबद्ध तरीके से दो बच्चे की नीति को लागू करेगी. सरमा ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्रस्तावित जनसंख्या नियंत्रण नीति असम में सभी योजनाओं में तुरंत लागू नहीं होगी क्योंकि कई योजनाओं का संचालन केंद्र सरकार द्वारा किया जाता है.
    हिमंत बिस्व सरमा ने कहा, 'कुछ ऐसी योजनाएं हैं, जिसमें हम दो बच्चे की नीति लागू नहीं कर सकते, जैसे कि स्कूलों और कॉलेजों में मुफ्त शिक्षा या प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास.' धीरे-धीरे आगे चलकर राज्य सरकार की प्रत्येक योजना में यह लागू की जाएगी.'

    (यहां पढ़ें पूरी खबर)

    'फ्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह पंचतत्व में विलीन, नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई
    भारत के महान धावक मिल्खा सिंह का अंतिम संस्कार शनिवार को चंडीगढ़ के मटका चौक स्थित श्मशान घाट में किया गया. मिल्खा सिंह का लगभग एक महीने तक कोरोना संक्रमण से जूझने के बाद शनिवार को चंडीगढ़ के पीजीआईएमईआर में निधन हो गया. वह 91 वर्ष के थे.
    मिल्खा सिंह को अंतिम विदाई देने के लिए केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू, पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह और हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह सहित कई लोग मौजूद रहे. सिंह की हालत शाम से ही खराब थी और बुखार के साथ ऑक्सीजन भी कम हो गई थी. वह यहां पीजीआईएमईआर के आईसीयू में भर्ती थे.

    (यहां पढ़ें पूरी खबर)

    दीप सिद्धू और अन्य आरोपियों को समन जारी, 29 जून को कोर्ट में पेश होने के आदेश
    26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर देश की राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा मामले में दीप सिद्धू और अन्य के खिलाफ दायर किए गए सप्लीमेंट्री चार्जशीट पर तीस हजारी कोर्ट में सुनवाई हुई है.
    कोर्ट ने इस पर सुनवाई करते हुए दीप सिद्धू और अन्य आरोपियों को समन जारी करते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 29 जून को अदालत के सामने पेश होने का आदेश दिया है.

    (यहां पढ़ें पूरी खबर)

    भारतीय वायुसेना में 2022 तक राफेल को शामिल करने का लक्ष्य: वायु सेना प्रमुख
    भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया ने शनिवार को कहा कि 2022 तक वायुसेना में 36 राफेल विमान शामिल कर लिये जायेंगे.
    फ्रांस से 36 लड़ाकू विमान प्राप्त करने की समयसीमा के बारे में एक संवाददाता द्वारा पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राफेल को शामिल करने की योजना पर वायु सेना का लक्ष्य निश्चित है. उन्होंने कहा, 'हमारा लक्ष्य 2022 है. यह एकदम निश्चित है.

    (यहां पढ़ें पूरी खबर)

    बंगाल में हिंसा की सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट की जज इंदिरा बनर्जी ने खुद को किया अलग
    प्रीम कोर्ट की जज इंदिरा बनर्जी ने चुनाव के बाद बंगाल में हुए हिंसा की सुनवाई करने वाली बेंच से अपना नाम वापस ले लिया है. जस्टिस बनर्जी कोलकाता की रहने वाली है. उन्होंने कहा कि वो इस केस की सुनवाई नहीं करना चाहती हैं.
    बता दें कि बंगाल में 2 मई को विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी. इस दौरान बीजेपी के दो कार्यकर्ताओं की मौत हो गई थी. अब इनके परिजनों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है.

    (यहां पढ़ें पूरी खबर)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.